आस्ट्रेलियन ओपन सुपरसीरीज में भारतीय बैटमिंटन खिलाड़ियों की आसान जीत

सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त शीर्ष भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने पहले दौर में आसान जीत के साथ बुधवार को आस्ट्रेलियन ओपन सुपरसीरीज के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया. बुधवार को सायना के अलावा किदांबी श्रीकांत और ज्वाला गुट्टा तथा अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी ने भी टूर्नामेंट की विजयी शुरुआत की. हालांकि भारत की दूसरे नंबर की पी. वी. सिंधू, पारुपल्ली कश्यप और आर. एम. वी. गुरुसाईदत्त को हारकर पहले ही दौर से बाहर होना पड़ा. चौथे विश्व वरीयता प्राप्त भारतीय शीर्ष बैडमिंटन स्टार किदांबी श्रीकांत और ज्वाला गुट्टा-अश्विनी पोनप्पा की शीर्ष भारतीय महिला जोड़ी ने बुधवार को 750,000 डॉलर इनामी राशि वाले आस्ट्रेलियन ओपन सुपरसीरीज में जीत के साथ अपने-अपने अभियान का आगाज किया.

भारत की दूसरे नंबर की महिला एकल खिलाड़ी पी. वी. सिंधू को हालांकि संघर्षपूर्ण मुकाबले में आठवीं वरीय चीन की यिहान वांग से हारकर पहले ही दौर से बाहर होना पड़ा. टूर्नामेंट में दूसरी वरीय सायना ने मलेशिया की चीया लिडिया यी यू को सीधे गेमों में 21-12, 21-10 से मात दे दी. सायना पूरे मैच के दौरान यी यू पर हावी रहीं और उन्हें शायद की किसी चुनौती का सामना करना पड़ा. पहले गेम में जहां वह लगातार सर्वाधिक नौ अंक अर्जित करने में सफल रहीं, वहीं दूसरे गेम में उन्होंने लगातार 12 अंक जीते. सायना ने मात्र 32 मिनट में यह गेम जीत लिया और यी यू के खिलाफ जीत हार का आंकड़ा 2-0 कर लिया.

सायना अब दूसरे दौर में चीन की सुन यू से गुरुवार को भिड़ेंगी। सुन यू के खिलाफ अब तक हुए चार मैचों में सायना तीन बार जीत दर्ज करने में सफल रही हैं, जबकि एक मैच में उन्हें हार झेलनी पड़ी थी. उधर पुरुष एकल वर्ग में पहला सेट हारने के बाद श्रीकांत ने वापसी करते हुए डेनमार्क के हैंस क्रिस्टियन विटिंगस को 14-21, 21-8, 22-20 से हरा दिया. तीसरे दौर में भी श्रीकांत को कठिन चुनौती मिली, हालांकि अंतत: 53 मिनट के मुकाबले में उन्हें किसी तरह जीत हासिल कर ली. श्रीकांत अब दूसरे दौर में 10वें वरीय चीन के तियान हुवेई से भिड़ेंगे.

महिला युगल वर्ग में उधर गुट्टा-पोनप्पा की जोड़ी ने सीधे गेमों में समांथा बार्निग और आइरिस ताबेलिंग की डच जोड़ी को 21-13, 21-13 से हरा दिया. भारतीय जोड़ी ने मात्र 29 मिनट में अपनी पहली जीत हासिल की. अब दूसरे दौर में उनका मुकाबला चौथी वरीय नित्या कृशिंदा माहेश्वरी और ग्रेजिया पोली की इंडोनेशियाई जोड़ी से होगा. पुरुष एकल वर्ग में हालांकि भारत को कश्यप ने निराश किया. वह छठे वरीय चीन के झेंगमिंग वांग से हार गए. कश्यप ने हालांकि मैच गंवाने से पहले छठे वरीय वांग को जमकर पसीना बहाने पर मजबूर किया.

कश्यप ने पहला सेट जीतकर उम्मीद जगा दी थी, लेकिन एक घंटा 21 मिनट तक चले मैराथन मुकाबले में वह वांग से 26-24, 18-21, 20-22 से हार गए. महिला एकल वर्ग में सिंधू को पहले ही मुकाबले में बेहद कठिन चुनौती का सामना करना पड़ा. सिंधू ने हालांकि पूर्व विश्व चैम्पियन यिहान वांग को पहले गेम में मात देकर सनसनी फैला दी. यिहान ने हालांकि अगले गेम में वापसी कर ली और स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया. तीसरे गेम में सिंधू ने एकबार फिर कठिन चुनौती दी और 17-11 से पिछड़ने के बाद लगातार सात अंक अर्जित कर 18-17 से बढ़त ले ली.

इसके बाद दोनों खिलाड़ियों में निर्णायक एक-एक अंक के लिए कठिन संघर्ष हुआ और एक समय स्कोर 23-23 से बराबरी पर रहा. लेकिन आखिरी दो अंक हासिल कर यिहान ने मैच अपने नाम कर लिया. पुरुष एकल वर्ग में क्वालीफायर के जरिए Aप्रवेश करने वाले गुरुसाईदत्त को पहले ही दौर में विश्व चैम्पियन चेन लोंग का सामना करना पड़ा और पहला सेट जीतने के बावजूद वह लेंग के हाथों मैच एक घंटा 12 मिनट के संघर्ष के बाद 15-21, 21-9, 21-17 से हार गए.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -