Video: 'पलक झपकते ही दुश्मन का टैंक ध्वस्त..' , भारतीय सेना के शौर्य से दहली चीन बॉर्डर

ईटानगर: 15 हजार फीट की ऊंचाई, निरंतर गिरता तापमान और वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) की रक्षा के लिए अपने आप को और तैयार करती इंडियन आर्मी. ईस्टर्न सेक्टर के अरुणाचल प्रदेश में भारतीय सेना इन दिनों जोरदार सैन्य अभ्यास कर रही है. बुम ला में जारी इस सैन्य अभ्यास के दौरान सेना असली लड़ाई की तरह युद्ध कर रही है. बता दें कि बुम ला, तवांग से 37 किमी दूर और तिब्बत में चीन प्रशासित सोना ज़ोंग शहर से 43 किमी दूर अहम जगह है. 

बुम ला में सैन्य अभ्यास के दौरान वर्षा, मौसम की मार और ऑक्सीजन की कमी भी हमारे देश के जवानों के बुलंद हौसलों को डिगा नहीं सकी. भारी बारिश के बीच इंडियन आर्मी के जवानों ने अदम्य साहस दिखाया. सैन्य अभ्यास की शुरुआत दुश्मनों के टैंक को तबाह करने के साथ हुई. जैसे ही दुश्मन भारतीय ठिकानों पर हमला करता है, भारतीय सेना उसका मुंहतोड़ जवाब देती है. तोपखाने की आग के साथ दुश्मन को बाधित करने के साथ काउंटर आक्रामक अगले चरण में जा पहुंचता है, जिसमें पैदल सेना के जवान, एंटी गाइडेड टैंक मिसाइलों से टैंक पर हमला करते हैं.

सैनिकों को हर वक़्त फिट और तैयार रखने के लिए ये अभ्यास नियमित किया जाता हैं. न सिर्फ शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी. अंतिम हमला तब शुरू होता है, जब टैंक रोधी निर्देशित मिसाइलें टैंकों से टकराती हैं, सैनिक वापस पूर्ण नियंत्रण लेने के लिए आगे बढ़ते हैं. आखिर में दुश्मन का हमला नाकाम कर दिया जाता है और दुश्मन के घुटने टिक जाते है. बता दें कि LAC पर  भारतीय सेना लागतार अपनी ताकत को बढ़ा रही है. M777 अल्ट्रा लाइट होवित्जर को हाल ही में यहाँ तैनात किया गया है. बोफोर्स तोपों के साथ-साथ आर्टिलरी नियमित प्रैक्टिस कर रहे हैं. दुर्गम पहाड़ी इलाकों में होवित्जर ने भारत की मारक क्षमता में इजाफा किया है, क्योंकि उन्हें पहाड़ की ऊंचाइयों तक ले जाया जा सकता है.

पीएम मोदी ने किया झज्जर परिसर में 806 बिस्तरों वाले विश्राम सदन का उद्घाटन

वसुधैव कुटुंबकम ! 95 देशों को वैक्सीन भी भेजी, 100 करोड़ टीकाकरण भी पूरा किया.. 'सलाम भारत'

100 करोड़ टीकाकरण पर गदगद हुआ भारत, पीएम मोदी-सीएम योगी ने देशवासियों को दी बधाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -