चिंगारी और रोपोसो के कुछ हो दिनों में हुए इतने डाउनलोड, मालिकों की उडी नींद

चिंगारी और रोपोसो के कुछ हो दिनों में हुए इतने डाउनलोड, मालिकों की उडी नींद
Share:

भारतीय टेक कंपनियों के लिए नया अवसर मिला है अपनी काबिलियत को दिखाने का | असल में  इनमें सबसे ज्यादा फायदा मशहूर टिकटॉक जैसे फीचर्स वाली देसी एप्लीकेशनों को होगा। वहीं इनमें दो मुख्य एप रोपोसो और चिंगारी के लाखों डाउनलोड हो गए हैं। साथ ही रोपोसो की बात की जाए, तो टिकटॉक पर बैन के बाद केवल दो दिनों में इसके 2.2 करोड़ डाउनलोड हुए हैं।  चिंगारी ने भी पिछले कुछ दिनों में 1.1 करोड़ के आंकड़े को पार कर लिया है। टिकटॉक बैन की घोषणा के तुरंत बाद इसके 30 मिनट में 10 लाख तक डाउनलोड दर्ज किये है । वहीं 30 जून शाम पांच से रात नौ बजे तक तो चिंगारी को प्रति घंटा तीन से छह लाख बार डाउनलोड किया गया था, हालाँकि मार्केट में पेश होने के लगभग डेढ़ साल बाद तक यह मुश्किल से एक लाख का आंकड़ा छू पाई थी।

10 करोड़ का आंकड़ा पार करने की उम्मीद
चिंगारी के सहसंस्थापक सुमित घोष का कहना है की, प्रति घंटा छह लाख डाउनलोड कभी फेसबुक एप के भी नहीं हुए है। वहीं रोपोसो के संस्थापक मयंक भानगढ़िया ने कुछ दिनों में एप के 10 करोड़ का आंकड़ा पार करने की आशंका जताई है। साथ ही 2014 से एंड्रॉयड पर शामिल रोपोसो के अभी आठ करोड़ से अधिक डाउनलोड हैं| टिकटॉक बंद होने से पहले इसके पांच करोड़ डाउनलोड हो गए थे। और  टिकटॉक के भारत में 20 करोड़ से अधिक उपभोक्ता थे। ऐसे में उद्योगपति आनंद महिंद्रा के 28 जून के एक ट्वीट से चिंगारी की पहचान में बढ़ोतरी की है। इसके अलावा महिंद्रा ने बताया, मैंने टिकटॉक का कभी उपयोग नहीं किया, परन्तु  इस देसी एप का समर्थन करते हुए डाउनलोड किया है।

एप मालिकों की उड़ी नींद
बाजार में बढ़ती मांग से तकनीकी जरूरतें पूरा करने के लिए रोपोसो और चिंगारी के मालिक बेहद परेशान है। असल में मयंक का कहना है, वह बीते कुछ दिनों में 5-7 घंटे ही सो पाए हैं। यही हाल सुमित घोष का है। उनका कहना है, एकदम से डाउनलोड बढ़ा तो वह और उनकी टीम 48 घंटे तक सो ही नहीं पायी थी । और एक करोड़ डाउनलोड उनके लिए किसी सपने के पूरे होने जैसा है।

मित्रों डेढ़ करोड़ पार
रोपोसो व चिंगारी के अलावा मित्रों एप भी उपभोक्ताओं के बीच फेमस हो रहा है। गूगल प्ले स्टोर पर पिछले तीन माह में इसके 1.7 करोड़ डाउनलोड हुए हैं। वहीं टिकटॉक बैन होने के बाद से इस एप के दैनिक ट्रैफिक में 11 गुना तेजी आई है।

हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड कनेक्शन लगाने का यह है आसान तरीका

PUBG और Call of Duty पर भारत ने इस वजह से नहीं लगाया बैन

प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियो को दिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज, मिलेगा इतना इनाम

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -