मसूद अज़हर के दो साले चला रहे थे आतंकी कैंप, भारतीय वायु सेना ने गिरा दिए बम

श्रीनगर: पुलवामा में हुए फिदायीन आतंकी हमले का भारत ने पाकिस्तान से बदला ले लिया है. इंडियन एयर फ़ोर्स ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में स्थित आतंकी कैंपों पर जबरदस्त हमला किया है. वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह कर दिया है. एयर फ़ोर्स ने मंगलवार तड़के 3.30 बजे ये हमला किया है. भारतीय वायुसेना ने इस एयर स्ट्राइक में 12 मिराज लड़ाकू विमानों का प्रयोग किया है.

युवाओं के लिए इस संस्था में नौकरियां, वेतन 25 हजार रु

विदेश मंत्रालय के अनुसार, बालाकोट के सबसे बड़े जैश ए मोहम्मद के कैंप में बड़ी तादाद में जैश आतंकवादियों, प्रशिक्षकों, वरिष्ठ कमांडरों को ढेर कर दिया गया है. शिविर की कमान मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ ​​उस्ताद गौरी के हाथ में थी. वो मसूद अजहर का साला है. उन्होंने कहा है कि नागरिकों को कोई नुकसान ना हो, इससे बचने के लिए हमने योजना बनाई थी. यह आतंकी कैंप एक पहाड़ी पर गहरे जंगल में स्थित है. हालांकि इस हमले में मसूद अजहर का साला मारा गया है या नहीं इस पर विदेश मंत्रालय कोई जानकारी नहीं दी है. बालाकोट में जिस एक अन्य कैंप पर भी हमला किया गया है वह आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का एक और साला अजहर महमूद के अंडर चलता था और ऑपरेशन के दौरान अज़हर महमूद वहां पर मौजूद था.

हैदराबाद पुलिस अकादमी में नौकरियां ही नौकरियां, युवाओं के लिए खाली हैं ये पद

विजय गोखले ने कहा है कि 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित और समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमला किया था, जिसमें हमारे 44 से अधिक जवान शहीद हुए थे. इससे पहले पठानकोट में भी जैश ने आतंकी हमला किया था. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान हमेशा इन संगठनों की अपने देश में उपस्थिति से इनकार करता आया है. पाकिस्तान को कई बार हमलों के सबूत भी दिए गए लेकिन उसने आज तक आतंकी संगठन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.

खबरें और भी:-

National institute of oceanography goa में वैकेंसी, ऐसे करें अप्लाई

यहां मिलेगी हर माह 55 हजार रु सैलरी, National Institute of Technology Trichy में करें अप्लाई

सैलरी 44 हजार रु, Bhubaneswar में निकली नौकरियां

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -