ये हैं देश की सबसे युवा पंचायत प्रधान, जिन्होंने लागू की शराबबंदी, पीएम मोदी कर चुके हैं सम्मानित

शिमला: हिमाचल प्रदेश की जबना चौहान का नाम उस समय चर्चा में आया जब वे देश की सबसे कम आयु की पंचायत प्रधान बनीं और उन्होंने पंचायत में शराबबंदी भी लागू करवाई। जबना ने इलाके में अपनी पंचायत को जिले में पहले नंबर पर पहुंचाया। जबना चौहान 2016 में 22 वर्ष की उम्र में देश की सबसे युवा प्रधान बनीं और उन्होंने सबसे पहले अपनी पंचायत में शराबबंदी लागू की। इस पर जबना चौहान को जान से मारने की धमकी तक मिली थी, किन्तु वे अपने फैसले से पीछे नहीं हटीं।

आखिर क्यों 8 मार्च को ही मनाते हैं 'अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस'

मंडी जिला के गोहर ब्लाक की थरजून पंचायत की इस युवा प्रधान को इसके सराहनीय कार्यों के लिए पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह, पंजाब के सीएम  कैप्टन अमरिंदर सिंह भी सम्मानित कर चुके हैं। जबकि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर गुजरात में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आयोजित किए गए महिला सरपंचों के सम्मेलन में इन्हें प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जा चुका है। 

Flipkart Women's Day Sale : 19 हजार रु की छूट, कतार में लगे हैं ये बेहद तगड़े स्मार्टफोन

जबना चौहान को अभिनेता अक्षय कुमार भी गुड़गांव बुलाकर सम्मानित कर चुके हैं, अक्षय कुमार ने उन्हें अपनी  फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ के प्रचार के दौरान समानित किया था। इस इवेंट में प्रधान जबना चौहान ने अपने विचार भी सबके सामने रखे थे। जिस पर अभिनेता अक्षय कुमार तथा इवेंट में मौजूद लोगों ने उन्हें खूब सराहा था।

खबरें और भी:-

आयोडीन की कमी से महिलाओं को होती कई परेशानी, अपनाएं ये आहार

इस डर के कारण महिलाएं नहीं बैठती कुर्सी पर, मिलती है ऐसी सजा

चिढ़ाने की बात पर बड़े भाई ने छोटे भाई की घौंपी कैंची, मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -