भारत सियाचिन से अपने सैनिकों को नही हटाएगा: पर्रिकर

Feb 26 2016 06:32 PM
भारत सियाचिन से अपने सैनिकों को नही हटाएगा: पर्रिकर

नई दिल्ली : सरकार ने बताया कि भारत सियाचिन ग्लेशियर से अपने सैनिकों को नहीं हटायेगा क्योंकि वह पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर सकता जो इसे खाली करने की स्थिति में हथिया सकता है। लोकसभा में कुछ सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में भारत के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि भारत के कब्जे में सियाचिन ग्लेशियर का सर्वोच्च स्थल साल्टोरो दर्रा है जो 23 हजार फुट की उंचाई पर स्थित है। भारत के रक्षा मंत्री ने आज अपने एक बयान में दोहराया है कि हिंदुस्तान सियाचिन ग्लेशियर से अपने सैनिकों को हटाने वाला नही है.

राजधानी दिल्ली में लोकसभा के दौरान भारतीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कुछ सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में दोहराया है कि वह  भारत सियाचिन ग्लेशियर से अपने सैनिकों को नहीं हटायेगा क्योंकि वह पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर सकता जो इसे खाली करने की स्थिति में हथिया सकता है। पर्रिकर ने कहा है कि हिंदुस्तान के कब्जे में सियाचिन ग्लेशियर का सर्वोच्च स्थल साल्टोरो दर्रा है जो 23 हजार फुट की उंचाई पर मौजूद है.

मनोहर पर्रिकर ने लोकसभा में आगे कहा कि अगर हमारी भारतीय सेना सियाचिन ग्लेशियर के सर्वोच्च स्थल साल्टोरो दर्रा से हट जाती है तो दुश्मन उन मोर्चों पर कब्जा कर सकता है और वे तब सामरिक रूप से लाभ की स्थिति में आ जायेंगे, और तब हमें अधिक नुकसान उठाना पड़ेगा। मेरा यही कहना है की हमारे भारतीय सैनिक सियाचिन की सीमा पर तैनात रहेंगे. पर्रिकर ने कहा कि हम जानते हैं कि हमें कीमत चुकानी पड़ेगी और हम अपने सशस्त्र बलों के जवानों को सलाम करते हैं लेकिन हम इस मोर्चे पर डटे रहेंगे.