धर्मशाला T-20 : रोहित का शतक बेकार, 7 विकेट से हारा भारत

Oct 02 2015 10:54 PM
धर्मशाला T-20 : रोहित का शतक बेकार, 7 विकेट से हारा भारत

धर्मशाला : रोहित शर्मा (106) के करियर का पहला टी-20 अंतर्राष्ट्रीय शतक काम न आया और भारत को हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) मैदान पर शुक्रवार को खेले गए पहले टी-20 मैच में दक्षिण अफ्रीका के हाथों सात विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। ज्यां पॉल ड्यूमिनी (नाबाद 68), अब्राहम डिविलियर्स (51), फरहान बेहरादीन (नाबाद 32) और हाशिम अमला (36) की उम्दा पारियों की बदौलत जीत हासिल करते हुए मेहमान टीम ने तीन मैचों की इस सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। दूसरा मुकाबला 5 अक्टूबर को कटक में खेला जाएगा।

भारत द्वारा दिए गए 200 रनों के लक्ष्य को मेहमान टीम ने 19.4 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया। ड्यूमिनी और बेहरादीन ने चौथे विकेट के लिए 105 रनों की साझेदारी करते हुए अपनी टीम को जीत तक पहुंचाया। ड्यूमिनी ने 34 गेंदों का सामना कर सात छक्के और एक चौका लगाया जबकि बेहरादीन ने 23 गेंदों का सामना कर चार चौके और एक छक्का जड़ा। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेहमान टीम ने जोरदार शुरूआत की।

डिविलियर्स और अमला ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए 10 से अधिक के औसत से रन जुटाए। ऐसा लग रहा था कि दोनों बड़ी आसानी से दक्षिण अफ्रीका को जीत तक पहुंचा देंगे लेकिन आठवें ओवर की चौथी गेंद पर भुवनेश्वर कुमार के सीधे थ्रो पर रविचंद्रन अश्विन ने अमला को रन आउट करके भारत को पहली सफलता दिलाई। अमला 77 के कुल योग पर आउट हुए। अमला ने 24 गेंदों पर पांच चौके लगाए। इसके बाद डिविलियर्स ने अपना अर्धशतक पूरा किया। डिविलियर्स ने 31 गेंदों पर 50 रन पूरे किए लेकिन 93 के कुल योग पर वह अश्विन द्वारा बोल्ड कर दिए गए।

डिविलियर्स ने 32 गेंदों का सामना कर सात चौके और एक छक्का जड़ा। अभी दक्षिण अफ्रीका डिविलियर्स के जाने के गम से उबर भी नहीं सका था कि अपना पहला मैच खेल रहे श्रीनाथ अरविंद ने कप्तान फाफ दू प्लेसिस (4) को बोल्ड कर भारत को तीसरी और बड़ी सफलता दिलाई। प्लेसिस का विकेट 95 के कुल योग पर गिरा। इसके बाद ड्यूमिनी और बेहरादीन ने कोई और नुकसान नहीं होने दिया और बड़ी आसानी से दक्षिण अफ्रीका को जीत तक पहुंचाया।

इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने रोहित तथा कप्तान विराट कोहली (43) के साथ दूसरे विकेट के लिए उनकी 138 रनों की साझेदारी की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट पर 199 रन बनाए। रोहित (66 गेंद, 12 चौके और 5 छक्के) और कोहली ने शिखर धवन (3) के 22 के कुल योग पर दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट होने के बाद 74 गेंदों पर 138 रन जोड़े। इन दोनों ने 11 से अधिक के औसत से स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाया। रोहित सहज अंदाज में आक्रामक बल्लेबाजी कर रहे थे जबकि कोहली भी लगभग इसी अंदाज में खेलते हुए उनका साथ दे रहे थे।

रोहित ने 39 गेंदों पर 50 रन पूरा किया और फिर 62 गेंदों पर 100 रन पूरा करने में सफल रहे। इस साझेदारी के दौरान कोहली ने अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 1000 रन पूरे किए। ऐसा करने वाले वह पहले भारतीय हैं। कोहली ने सबसे तेजी से 1000 रनों का आंकड़ा छुआ। कोहली 160 के कुल योग पर आउट हुए जबकि रोहित का विकेट 165 के कुल योग पर गिरा। कोहली ने 27 गेंदों का सामना कर तीन छक्के और एक चौका लगाया।

कोहली ने इमरान ताहिर की लगातार गेंदों पर तीन छक्के लगाए। रोहित के आउट होने के बाद सुरेश रैना (14 रन, 8 गेंद, 2 छक्के) ने कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 20, 12 गेंद, 2 चौका, 1 छक्का) के साथ चौथे विकेट के लिए 22 रन जोड़े। रैना 184 के कुल योग पर आउट हुए जबकि अगले बल्लेबाज अंबाती रायडू (0) अगली ही गेंद पर रन आउट हो गए। अक्षर पटेल दो रनों पर नाबाद रहे। दक्षिण अफ्रीका की ओर से काएल एबॉट ने दो विकेट लिए जबकि क्रिस मौरिस को एक सफलता मिली।