बॉर्डर विवाद को लेकर आज फिर चीन से बातचीत, चुशूल में कोर कमांडर स्तर की बैठक

Jun 30 2020 11:37 AM
बॉर्डर विवाद को लेकर आज फिर चीन से बातचीत, चुशूल में कोर कमांडर स्तर की बैठक

नई दिल्ली: भारत और चीन की सेनाओं के बीच मंगलवार को लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की एक और दौर की बातचीत जारी है, ताकि पूर्वी लद्दाख में गतिरोध को कम किया जा सके और संवेदनशील क्षेत्र से सेनाओं को पीछे हटाने के तौर-तरीकों को अंतिम रूप दिया जा सके. भारत के चुशूल सेक्टर में बातचीत हो रही है. वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अध्यक्षता 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे हैं. 

पहले दो दौर की बातचीत में भारतीय पक्ष ने यथास्थिति की बहाली और गलवान घाटी, पैंगोंग सो और अन्य क्षेत्रों से हजारों चीनी सैनिकों की फ़ौरन वापसी पर जोर दिया था. पहली दो बैठकें मोल्दो में LAC पर चीन की ओर हुई थीं.  पूर्वी लद्दाख में कई जगहों पर पिछले सात हफ्ते से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं. 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया है. दूसरे दौर की बातचीत में 22 जून को दोनों पक्षों के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव वाली जगहों पर 'पीछे हटने' के लिए 'परस्पर सहमति' बनी थी. 

सूत्रों ने कहा कि आज की वार्ता में सुरक्षाबलों को पीछे हटाने को लेकर हुए फैसले को क्रियान्वित करने की दिशा में आगे बढ़ने पर दोनों पक्षों के चर्चा करने की संभावना है. गलवान में दोनों पक्षों के बीच 15 जून की रात को खुनी संघर्ष हुआ था, जिसके बाद दोनों पक्षों ने कम से कम तीन दौर की मेजर जनरल स्तर की वार्ता की ताकि गतिरोध को कम करने के तरीकों का पता लगाया जा सके.

तीरंदाज दीपिका कुमारी बंधने जा रही है शादी के बंधन में, शुरू हुई हल्दी की रस्मे

यदि मैच के दौरान बॉल चमकाने के लिए किया लार का इस्तमाल तो हो सकती है परेशानी

कोरोना जांच में नहीं लगेगा समय, जल्द उपलब्ध होगी घरेलू टेस्ट किट