अफगानिस्तान में कैसे बहाल होगी शांति ? 'संयुक्त राष्ट्र' की बैठक में भारत ने दिया जवाब

Nov 21 2020 10:02 AM
अफगानिस्तान में कैसे बहाल होगी शांति ? 'संयुक्त राष्ट्र' की बैठक में भारत ने दिया जवाब

नई दिल्ली: भारत ने शुक्रवार को यूनाइटेड नेशंस में अरिया फॉर्मूला बैठक में हिस्सा लिया. बैठक का विषय रखा गया था- 'अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया बहाल करने में सुरक्षा परिषद का रोल'. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए कहा कि पाक आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बना हुआ है. इस कारण भारत की पहुंच अफगानिस्तान तक बनने में बाधा उत्पन्न हो रही है.

तिरुमूर्ति ने कहा कि शांति प्रक्रिया और हिंसा दोनों एक साथ नहीं चल सकतीं, इसलिए अफगानिस्तान में शांति कायम रहने के लिए आवश्यक है कि आतंकियों के लिए सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली डुरंड लाइन पर आतंकी पनाहगाहों को नष्ट किया जाए. उन्होंने कहा कि डूरंड लाइन में विदेशी लड़ाकों की उपस्थिति दर्ज की गई है. अलकायदा/ISIS सैंक्शन कमेटी के तहत बनी एनालिटिकल सपोर्ट ऐंड सैंक्शन मॉनिटरिंग टीम की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है. ऐसे में अफगानिस्तान में शांति कायम करने के लिए आतंकियों की सप्लाई चेन नष्ट करनी होगी.

उन्होंने खुशी जताते हुए कहा कि मैं अफगानिस्तान में शांति बहाल करने के लिए हो रही अरिया फॉर्मूला बैठक में शामिल होने पर खुशी महसूस कर रहा हूं. उन्होंने आगे कहा अफगानिस्तान में शांति कायम करने और स्थिरता लाने के लिए भारत को भारी कीमत चुकानी पड़ी है. अफगानिस्तान में अपनी ड्यूटी करते हुए राजनयिक सहित कई लोगों की जानें गई हैं. हमने अफगानिस्तान में विकास शुरू कराने के लिए खून और पसीना दोनों बहाया है. 

विश्व टेलीविजन दिवस 2020: कोरोना काल में जाने टीवी का महत्व

भारत के ये चार स्थान आपको देंगे सुकून

78 वर्ष के हुए जो बिडेन, अमेरिका के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति के रूप में ग्रहण करेंगे शपथ