भारत ने श्रीलंका को फिर भेजे 200 करोड़, अब तक भेज चुका है दूध-चावल, दवाएं और डीजल

नई दिल्ली: श्रीलंका इस वक़्त अपने सबसे खराब हालातों का सामना कर रहा है। देश में आर्थिक स्थिति बदतर हो चुकी हैं। तेल, दवा, अनाज समेत जरूरी वस्तुओं का अकाल पड़ गया है। पूरे देश में महँगाई चरम पर है। अपने इतिहास के सबसे गंभीर आर्थिक और सियासी संकट का सामना कर रहे श्रीलंका के लोगों की सहायता के लिए भारत की तरफ से लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। इसके तहत रविवार (22 मई 2022) को चावल, जीवन रक्षक दवाइयों और मिल्क पाउडर जैसी तात्कालिक राहत सामग्रियों को लेकर भारत का एक जहाज श्रीलंका पहुँचा था। यह खेप द्वीपीय देश की सरकार को सौंप दिया गया है।

भारतीय उच्चायुक्त गोपाल बागले ने पड़ोसी देश के विदेश मंत्री जीएल पीरिस को यह खेप सौंपी। इसमें 9000 मीट्रिक टन चावल, 50 मीट्रिक टन मिल्क पाउडर और 25 मीट्रिक टन से ज्यादा दवाएँ और अन्य चिकित्सा आपूर्तियाँ शामिल थी। संकटग्रस्त देश के नए पीएम रानिल विक्रमसिंघे ने भी एक ट्वीट में इस महत्वपूर्ण मदद के लिए भारत को धन्यवाद कहा है। विक्रमसिंघे ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'श्रीलंका को आज भारत से दो अरब (200 करोड़ रुपए) कीमत की मानवीय सहायता प्राप्त हुई। इसमें मिल्क पाउडर, चावल और दवाएँ शामिल हैं। हम तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन और भारत की जनता के प्रति इस सहयोग के लिए हृदय से आभारी हैं। मैं श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग की तरफ से मिली मदद के लिए भी आभार प्रकट करता हूँ।'

बता दें कि इससे पहले भारत ने शनिवार (21 मई 2022) को ईंधन की किल्लत को कम करने के लिए श्रीलंका को 40,000 मीट्रिक टन डीजल की एक और खेप भेजी थी। श्रीलंका में मौजूद भारतीय उच्चायोग ने इस खबर की सूचना ट्विटर हैंडल के माध्यम से दी थी।

पंजाब की पुलिस अकादमी में ड्रग्स का रैकेट, पांच कांस्टेबल हिरासत में, महिला पेडलर गिरफ्तार

बच्ची को चढाने के लिए ढाई हज़ार में ख़रीदा खून, डॉक्टर ने कहा- ये तो ब्लड है ही नहीं...

तिरंगे का अपमान, जमीन पर बिछाकर नमाज अदा कर रहा था मोहम्मद तारिक अजीज

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -