भारत में गहराया बिजली संकट, अब सरकार ने कतर से मांगी मदद

नई दिल्ली: जबर्दस्त बिजली संकट कसा सामना कर रहे भारत ने अब कतर से नेचुरल गैस की सप्लाई जल्दी करने का अनुरोध किया है। बता दें कि कतर से LNG के 58 जहाज भारत आने वाले हैं। मगर सप्लाई में विलंब हो रहा है। कतर की सरकारी कम्पनी कतर गैस के यहां मेंटेनेंस का काम चलने के चलते भारत को इस साल मिलने वाले LNG के 50 जहाज में देरी हो रही है।

चूंकि भारत में कोयले की आपूर्ति में दिक्कतें आने से बिजली उत्पादन बाधित हो रहा है सो अब लिक्विफाइड नेचुरल गैस (LNG) की आपूर्ति जल्द से जल्द हासिल करने की कोशिश की जा रही है। अब तेल मंत्रालय ने कतर गैस को पत्र लिख कर जल्द सप्लाई भेजने का अनुरोध किया है। भारत को गत वर्ष ही जो सप्लाई मिलनी थी, वह पूरी नहीं हो सकी है। क्योंकि पिछले साल लॉकडाउन की वजह से गैस की मांग बहुत कम हो गई थी।

बता दें कि भारत में गैस का सबसे बड़ा आयातक पेट्रोनेट एलएनजी (Petronet LNG) है, जिसने कतर से हर साल 7.5 मिलियन टन LNG खरीदने का अनुबंध किया हुआ है। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया से एक्सान कंपनी से हर साल 1.44 मिलियन टन एलएनजी खरीदने का करार है।

त्योहारी सीजन में झूमा शेयर बाज़ार, सेंसेक्स इतिहास में पहली बार 62 हज़ार के पार

ऐतिहासिक ऊंचाई पर पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का भाव

हवाई जहाज़ के ईंधन से भी महंगा बिक रहा पेट्रोल-डीजल, आगे और बढ़ सकते हैं दाम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -