मसूद अज़हर की शिकायत ले भारत पहुंचा UN के पास

संयुक्त राष्ट्र​ : भारत ने पाकिस्तान से आई रिपोर्ट के बाद संयुक्त राष्ट्र के पास जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर की शिकायत लेकर पहुंची है। भारत ने यूएन से कहा है कि पठानकोट एयरबेस पर हमला करने वालों में से एक हैंडलर मसूद भी था। इन आतंकियों को तालिबान में ट्रेनिंग दी जाती है।

इससे पहले भी कई बार भारत मसूद को आतंकी घोषित कराने के लिए यूएन में शिकायत कर चुका है। लेकिन परिणाम कुछ भी हाथ नहीं लगा है। लेकिन भारत ने इस बात को पूरी दुनिया को यकीन जरुर दिला दिया है कि जैश के आतंकी भारत पर कई बार हमले कर चुका है।

भारत द्वारा संयुक्त राष्ट्र को सौंपी गई मसौदा सूची में मसूद के अलावे भी कई आतंकियों के नाम है। इस मसौदे में बताया गया है कि 2001 में संसद हमले का दोषी अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के बाद बदले की मंशा से मसूद ने लश्कर के संस्थापक हाफिज सईद और हिजबुल मुजाहिद्दीन प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन से हाथ मिला लिया है।

इसके बाद हुई बैठकों में यह फैसला लिया गया कि पठानकोट एयरबेस पर हमले के लिए आतंकियों को तालिबान में ट्रेनिंग दिया जाएगा। भारत ने संयुक्त राष्ट्र को बताया है कि मसूद अजहर पाकिस्तान का एक अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी है।

वह जैश ए मुहम्मद का सरगना और उसका प्रमुख फाइनांसर, रिक्रूटर और मोटिवेटर है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में पाकिस्तान की शह पर चीन ने संयुक्त राष्ट्र में अजहर मसूद को आतंकी करार देने से इन्कार कर दिया था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -