भारत ने की म्यांमार के साथ उग्रवादियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही

Mar 16 2019 09:11 AM
भारत ने की म्यांमार के साथ उग्रवादियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही

नई दिल्ली : अब से कुछ दिनों पहले पुलवामा हमले के बाद जिस दौरान भारत ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया, उसी दौरान भारत-म्यांमार सीमा पर भी उग्रवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया जा रहा था। सेना के सूत्रों ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि 17 फरवरी से 2 मार्च के बीच भारत और म्यांमार की सेनाओं ने मिलकर यह ऑपरेशन चलाया। इसमें उग्रवादियों के दर्जनों कैम्प तबाह किए गए।

निर्वाचन आयोग की मंजूरी के बाद, अब इस दिन होगी जीएसटी परिषद की बैठक

इस कारण दिया गया ऑपरेशन को अंजाम 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत-म्यांमार की आर्मी ने अराकान आर्मी के सदस्यों के खिलाफ यह अभियान चलाया। इन उग्रवादियों से कालादान मल्टी ट्रांजिट ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट को खतरा था। इस प्रोजेक्ट को भारत के दक्षिण-पूर्व एशिया में गेटवे के तौर पर देखा जा रहा है। हालांकि, भारतीय सेना ने इस ऑपरेशन के दौरान सीमा पार नहीं की थी। ऑपरेशन का मकसद अराकान आर्मी के सदस्यों को नेस्तनाबूद करना था। 

गुजरात के राजकोट में प्रतिबंधित 'पबजी' खेलते धराये 10 युवक

ऐसे दिया गया अंजाम 

जानकारी के मुताबिक अधिकारी ने बताया कि अराकान आर्मी के सदस्य मिजोरम सीमा से सटे इंटरनेशनल बॉर्डर के काफी करीब आ गए थे। ऑपरेशन के दौरान भारतीय सेना ने नगालैंड और मणिपुर से सटी सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी थी, ताकि उग्रवादी भारतीय सीमा में प्रवेश ना कर सकें। दोनों देशों की बीच कई दौर की बातचीत के बाद सम्मिलित ऑपरेशन करने का फैसला किया गया। इसके लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल सीमा के पास भेजे गए और असम राइफल्स के जवानों को भी तैनात किया गया।

राजस्थान के अलवर में निर्माणाधीन पानी की टंकी ढही, कई घायल

बाइक को बचाने में पलटी यात्री बस, 4 की मौत कई घायल

होली के ख़ास मौके पर यूपी में चलेंगी 4000 स्पेशल बसें