विशेष सुरंग से उड़ा सूक्ष्म विमान पुष्पक, भारत की बड़ी तैयारी

नई दिल्ली : भारत लगातार रक्षा एवं अनुसंधान के क्षेत्र में एक - एक पायदान आगे बढ़ता जा रहा है। जहां भारत ने चालक रहित विमान तैयार किए वहीं अब देश के रक्षा एवं अनुसंधान विकास संगठन ने सूक्ष्म विमानन तकनीक पर आधारित विमान पुष्पक तैयार किया है। यह विमान सेन्य और असेन्य दोनों ही प्रयोग में लाया जा सकता है। मिली जानकारी के अनुसार इस विमान का परीक्षण करने के लिए पहली बार विशेष प्रकार की सुरंग तैयार की गई। इस सुरंग में विमान का परीक्षण किया गया। इस दौरान आईटीबीपी और अन्य बलों के अधिकारी मौजूद थे। मामले में कहा गया है कि सूक्ष्म विमान का परीक्षण सीएसआईआर एनएएल परिसर में अनुसंधान सुरंग में इसका उपयोग किया गया।

मामले को लेकर नेशनल एयरोस्पेस लेबोरेटरीज़ के मुख्य वैज्ञानिक डाॅ. जेएस माथुर ने कहा कि यूं तो वर्ष 1998 से 2010 तक इस क्षेत्र में कार्य पर विचार किया गया लेकिन इस विमान का परीक्षण अब किया गया है। भारत में सूक्ष्म वायु वाहन पर राष्ट्रीय कार्यक्रम एनपी-एमआईसीएवी के साथ रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के साथ भारत सरकार के अधीन कार्य करने वाले विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा कार्य किया जा रहा है। औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा भी इस मामले में सहयोग किया गया है।

मामले में कहा गया है कि स्थिर पंखों वाले सूक्ष्म वायु वाहन पुष्पक, ब्लैक काईट, गोल्डेन हाक का विकास किया गया। इस दौरान सूक्ष्म वायु वाहनों का आकार करीब 300 से 450 मिलीमीटर और इसका भार करीब 300 ग्राम रहा। इस दौरान इस उड ़ान का क्षेत्र लगभग 2 किलोमीटर तक रहा। यह विमान लगभग आधे घंटे तक आसमान के चक्कर लगाने में सक्षम है। इसके परीक्षण के लिए विशेषतौर पर सुरंग तैयार की गई।

 
- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -