पीएम मोदी-जिनपिंग की बैठक सफल, भारत-चीन सीमा पर शांति

नई दिल्ली: भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की बैठक का असर भारत-चीन सीमा पर दिखने लगा है. पहले जहाँ दोनों देशों में सीमा को लेकर विवाद की स्थिति अक्सर बन जाया करती थी और दोनों देशों की सेनाएं अम्मने सामने आ जाया करती थी, साथ ही चीन घुसपैठिये भी भारत के लिए बड़ी समस्या थी.

लेकिन दोनों देशों के शीर्ष नेताओं की शिखर वार्ता के बाद से इन मामलों में काफी कमी आई है, ऐसा सुरक्षा महकमे के सूत्रों द्वारा बतया जा रहा है. उन्होंने कहा है कि चीन की तरफ से घुसपैठ की कोशिश के बाद भारतीय सुरक्षा बलों के साथ भारत-चीन सीमा पर तनाव बहुत ज्यादा देखने को मिलता था, वह अब नहीं दिख रहा है. सूत्रों का कहना है कि दोनों देशों ने सीमा पर होने वाली गश्त को भी कम कर दिया है.

उन्होंने बताया कि भारत और चीन की तरफ से जो लॉन्ग रेंज पेट्रोलिंग (एलआरपी) या फिर शार्ट रेंज पेट्रोलिंग (एसआरपी) होती थी, उनकी संख्या में काफी कमी आई है. जबकि इनकी मुलाकात से पहले चीन ने भारतीय सीमा और दोकलाम से कई बार घुसपैठ भी की थी, यही नहीं बल्कि पिछले महीने चीनी सैनिक, जीमने पेंगोंग लेक के इलाके में भी डेढ़ किलोमीटर से लेकर साढ़े 5 किलोमीटर तक गाड़ी के जरिए भारतीय क्षेत्र में घुस आए थे. 

कर्नाटक: शाम पांच बजे तक चलेगा तरकश का अंतिम तीर भी

बड़ी खबर: तूफान की चेतावनी के बीच भूकंप से थर्राया उत्तर भारत

आत्मसमर्पण की जगह मौत चुन रहे हैं कश्मीरी युवा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -