होली पर स्टेशन में बढ़ाई जाएगी सुरक्षा, आरपीएफ जवानों की छुट्टियां हुई रद्द

Mar 06 2020 02:32 PM
होली पर स्टेशन में बढ़ाई जाएगी सुरक्षा, आरपीएफ जवानों की छुट्टियां हुई रद्द

रायपुर: होली का त्यौहार आने के साथ आरपीएफ ने कमर कस ली है. वहीं, यात्री सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए रायपुर रेलवे मंडल में रेलवे सुरक्षा बल के जवानों और अधिकारियों की छुट्टी होली तक रद्द कर दी गई है. वहीं, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मुख्यालय से यह आदेश जारी किया है. इससे बहुत जरुरी होने पर ही किसी सुरक्षा जवान को छुट्टी मिलेगी. इससे सुरक्षा जवान दूर रहने वाले परिजनों से भी होली में नहीं मिल पाएंगे और प्लेटफॉर्म या ट्रेन ड्यूटी करते होली मनाएंगे. ट्रेनों में अतिरिक्त फोर्स चलाई गई है तो वहीं स्टाफ की छुट्टियां भी निरस्त कर दी गई हैं. आरपीएफ के अधिकारी का कहना है कि होली में ट्रेनों में होने वाली भीड़ को देखते हुए होली तक सभी की छुट्टी निरस्त कर दी गई है.

आपको बता दे की रायपुर रेलवे स्टेशन से एक दिन में तकरीबन 112 ट्रेनें तथा लगभग 70 हजार यात्री एक दिन में सफर करते हैं. रंगों का पर्व होली इस बार 10 मार्च को पड़ रही है. त्योहार पर ट्रेनों में भीड़ बढ़ जाती है. खासकर बाहर से कमाने खाने के चक्कर में आने वालों को त्यौहार पर अपने घरों की तरफ लौटना होता है. इसके चलते लंबी दूरी की गाड़ियों में बड़ी संख्या में मुसाफिरों की भीड़ उमड़ती है. ऐसे में अव्यवस्था का माहौल उत्पन्न न हो जाता है. इसके चलते आरपीएफ रायपुर मंडल ने सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के कार्य जारी हैं.

रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारी ने यह बताया कि रायपुर रेलवे मंडल में कुल 394 कर्मचारी और अधिकारी हैं. वहीं, रेलवे प्रशासन ने ट्रेनों और स्टेशनों पर गस्त बढ़ा दी है. कंट्रोल रूम में भी एक्सपर्ट बैठा दिए गए हैं, जिससे वह स्टेशन पर होने वाली पल-पल की गतिविधियों पर नजर रख सकें. आपको बता दे कि होली के त्योहार के सीजन में रायपुर रेलवे स्टेशन व यात्री सुरक्षा के लिए आरपीएफ में युवा जवानों की टीम का गठन हुआ है. आर्म्स एवं वॉकी-टॉकी से लैस टीम के जवान सादे लिबास में ट्रेनों और प्लेटफॉर्म पर चौकसी करेंगे.

अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए SBI में खोला गया करंट अकाउंट, भक्त कर सकेंगे दान

करीना ने किया इंस्टाग्राम डेब्यू! पहली पोस्ट से मचाया धमाल

सीएम जयराम : आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए नीति बनाने पर विचार