इंदौर स्थित मित्तल समूह पर आयकर विभाग ने कसा शिकंजा

Sep 04 2015 04:42 PM
इंदौर स्थित मित्तल समूह पर आयकर विभाग ने कसा शिकंजा

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में आयकर विभाग ने फिर सक्रियता दिखाई है सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आयकर आयुक्त और जनसमर्क प्रभारी जेपी चन्द्रवंशी ने अपनी संयुक्त टीम के साथ शुक्रवार की सुबह मित्तल समूह के प्रमुख स्थानो पर छापे मारे तथा इसके लिए विभाग ने पांच से ज्यादा टीम बनाई. जिसने दिनेश, अंशुल और अंकित मित्तल के घर, दफ्तर और फैक्ट्री सहित विभिन्न कार्यालयों पर अपनी कार्यवाही को अंजाम दिया. गौरतलब है की मित्तल समूह देश में सौ सालों से धातुओं के व्यापार और इनसे जुड़ी विभिन्न इंडस्ट्रियल गुड्स के निर्माण में सक्रिय है आयकर विभाग को कंपनी से करोड़ो रूपये की आयकर चोरी उजागर होने का अनुमान है. 

मित्तल समूह पर चार पांच माह पूर्व भी विभाग ने कार्यवाही की थी, आपको बता दे की मित्तल समूह की मित्तल एप्लायंसेस नामक कंपनी भारत के साथ साथ पांच अन्य देशो के सिक्के बनाती है. जिसमे भारत में प्रमुखता से चलने वाले 2 और 10 रुपए के सिक्के मित्तल एप्लायंसेस ही बनाकर रिजर्व बैंक को देती है। इसके साथ-साथ थाइलैंड की मुद्रा, मलेशिया के लिए 10, 20 और 50 व सेन पेरू के लिए 1 न्यूवो, डोमिनियन रिपब्लिक के लिए 25 पेसो के सिक्के का निर्माण कंपनी करती है. व बाद में इन्हे उनकी सरकारों को सौंप देती है. तथा मित्तल समूह के इंदौर के अलावा अन्य शहरों में भी ऑफिस है. विभाग का इस छापे में सबसे अधिक ध्यान मित्तल के गीता भवन स्थित कार्यालय पर है. तथा यह कार्यवाही देर रात तक चलने की संभावना है.