सियासी संकट के बीच आई बड़ी खबर, मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एकनाथ शिंदे को मिलेगा ये पद!

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में छाए खतरे के बादल छंटने का नाम नहीं ले रहे हैं। सोमवार को इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई हुई। हालांकि, तत्काल कोई फैसला नहीं हो सका, इसके बाद भी बागी विधायकों को अदालत से बड़ी राहत प्राप्त हुई है। गुवाहाटी पहुंचे 16 विधायकों की अयोग्यता को लेकर डिप्टी स्पीकर की तरफ से दिए गए नोटिस पर 12 जुलाई तक अदालत ने पाबंदी लगा दी है। इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत को ED ने नोटिस भेजा है। जमीन घोटाले मामले में राउत को प्रवर्तन निदेशालय ने आज तलब किया है। 

वही एक जमीन घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय का समन आने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने जांच एजेंसी से वक़्त मांगा है। दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने संजय राउत को सोमवार को समन भेजा था। उन्हें पूछताछ के लिए आज प्रवर्तन निदेशालय दफ्तर में तलब किया गया था। हालांकि, संजय राउत की तरफ से प्रवर्तन निदेशालय दफ्तर में अधिवक्ता को पेश किया गया। कहा जा रहा है कि वह पूछताछ के लिए आगे की दिनांक की मांग करेंगे। 

सीएम उद्धव ठाकरे ने आज दोपहर 2.30 बजे मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। वहीं बागी एकनाथ शिंदे को बीजेपी उपमुख्यमंत्री बना सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि शिंदे गुट के 8 विधायकों को कैबिनेट मंत्री तथा 5 को राज्य मंत्री बनाया जा सकता है। महाराष्ट्र में जारी सियासी उथल- पुथल के बीच बीजेपी ने सरकार बनाने की कवायद आरम्भ कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बीजेपी एवं शिंदे गुट मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं। हालांकि, अभी मंत्री पद को लेकर मंथन चल रहा है। शिंदे गुट से 8 MLA मंत्रिमंडल में सम्मिलित हो सकते हैं। वहीं 5 राज्य मंत्री बनाए जा सकते हैं। 

'कांग्रेस जितनी जल्दी खत्म हो जाए, लोकतंत्र के लिए उतना अच्छा...' ओवैसी ने दिया बड़ा बयान

गुजरात दंगा: हिंसा पीड़ितों के नाम पर फंड जुटाकर खुद खा गई तीस्ता सीतलवाड़, करीबी ने किया खुलासा

सोनिया गांधी के PA ने किया दलित विधवा का बलात्कार, दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -