बच्चों को भूख से तड़पता देख माँ ने केरोसिन डालकर की ख़ुदकुशी

Sep 07 2015 02:00 PM
बच्चों को भूख से तड़पता देख माँ ने केरोसिन डालकर की ख़ुदकुशी

अंबी गांव (उस्मानाबाद): महाराष्ट्र में मानसून के दौरान भी इस बार सबसे कम बारिश दर्ज की गई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के मराठवाड़ा में पांच बच्चो की माँ ने ख़ुदकुशी कर ली है. मृतक महिला जिसका नाम मनीषा गटकल है वह उस्मानाबाद जिले के अंबी गांव में रहती है, उसने रक्षाबंधन पर अपने शरीर पर केरोसिन डालकर खुद को आग के हवाले कर दिया. माना जा रहा है की दोनों पति-पत्नी बेरोजगार थे व अपने बच्चो का पेट भरने में दोनों असमर्थ थे उनके घर में न तो चावल था न आटा, न तेल सिर्फ खाली बर्तन पड़े हुए थे. इस परिवार के पास अपनी आजीविका चलाने का कोई चारा नही था. मृतका के पति लक्ष्मण ने कहा की हम बेहद गरीब हैं। घर में खाने को कुछ नहीं था। मेरे पास कोई काम नहीं था, जब मुझे कुछ काम मिला तो मैं बाहर चला गया। 

उसी दौरान मेरी पत्नी ने दरवाजा बंद कर अपनी जान दे दी. मृतका के एक रिश्तेदार ने कहा की राशन के रूप में हमे सिर्फ 18 किलो गेहूं और 12 किलो चावल मिलता है, जो कि सात लोगों के परिवार के लिए पर्याप्त नहीं होता है व यह राशन 12 दिनों में ही खत्म हो जाता है. इस घटना के बाद उस्मानाबाद व सोलापूर जिलो के गाँवो के स्थानीय निवासियों का कहना है की बारिश न होने के कारण यहां की स्थिति बहुत ही विकराल है लोग यहां दो वक्त की रोटी खाने को मोहताज हो रहे है, लक्ष्मण के भाई का कहना है की अगर लक्ष्मण को नरेगा के तहत काम मिला होता तो शायद आज यह स्थिति उत्पन्न नही होती.