अपने प्यार के लिए पाकिस्तान छोड़ चुके है इमरान ताहिर, बेहद दिलचस्प है इनकी प्रेम कहानी

दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर पुणे के लिए पहले ही मैच में तीन शानदार विकेट लेकर अपनी विकेट लेकर अपनी धमक दिखा चुके हैं. विकेट लेने के बाद जोरदार जश्न मनाने के लिए भी अपनी पहचान बना चुके इमरान ने पाकिस्तान के लिए ही जूनियर लेवल पर क्रिकेट की शुरुआत की थी लेकिन 1998 में पाक की जूनियर टीम का हिस्सा बन दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर आए इमरान को वहां सुमैय्या दिखी और फिर ना उन्हें क्रिकेट याद रहा और ना पाकिस्तान. उनकी प्रेम कहानी के बारे में आज हम आपको बता रहे हैं.

लाहौर में पैदा हुए और पले-बढ़े इमरान: पाकिस्तान के लाहौर में जन्मे इमरान ताहिर ने स्कूल के वक्त से ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. अच्छा खेलते थे, इसलिए पाकिस्तान की अंडर-19 टीम में सेलेक्ट हो गए. ये साल था1997-1998. इमरान1998 में अंडर-19 टीम के साथ साउथ अफ्रीका के टूर पर गए. इसी दौरान उनकी मुलाकात हो गई एक भारतीय मूल की खूबसूरत मॉडल सुमैय्या दिलदार से.

सुमैय्या के लिए क्रिकेट छोड़ पहुंच गए साउथ अफ्रीका: डरबन में भारतीय मूल की जिस लड़की सुमैय्या से इमरान की चोटी सी मुलाकात हुई, उस लड़की ने लाहौर लोटने के बाद इमरान को सोने ही नहीं दिया. आखिर इमरान ने बैग पैक किया और पहुंच गए डरबन. इमरान ने सुमैय्या को ढूंढ़ लिया. सुमैय्या ने कुछ मुलाकातों के बाद ये भी कुबूल कर लिया कि वो भी इमरान से प्यार करती हैं. अब इमरान ने सुमैय्या से कहा कि वो उनसे शादी कर पाकिस्तान चलें. लेकिन सुमैय्या ने कहा कि वो साउथ अफ्रीका को छोड़कर नहीं जाएंगी.

सुमैय्या के प्यार के साथ क्रिकेट से इश्क: इमरान ने आखिर प्यार की खातिर 2006 में अपना क्रिकेट करियर दांव पर लगा दिया और पाकिस्तान छोड़ अफ्रीका में सुमैय्या के पास ही चले गए. डरबन में रहने वाली सुमैय्या ने भी इमरान से शादी कर मॉडलिंग को छोड़ दिया और गृहस्थी में रम गईं. सुमैय्या और इमरान ताहिर को एक बेटा है. सुमैय्या अक्सर ताहिर के मैच देखने स्टेडियम आती हैं.

पाकिस्तानी क्रिकेटर से अफ्रीकन क्रिकेटर तक: सुमैय्या के प्यार को पाकर भी इमरान ने क्रिकेट से प्यार को नहीं छोड़ा. काफी मेहनत के बाद ताहिर ने अफ्रीका में घरेलू क्रिकेट खेलना शुरु किया. मेहनत और लगातार अच्छा प्रदर्शन का इनाम उन्हें 2011 में मिला जब पहली बार उन्हें साउथ अफ्रीका के लिए खेलने का मौका मिला. शुरु में ताहिर को टेस्ट स्पेशलिस्ट बॉलर के रूप में देखा जा रहा था लेकिन मेहनत के बल पर उन्होंने वनडे टीम में जगह बनाई. इमरान को इस समय खेल रहे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिन गेंदबाजों में शुमार किया जाता है.

IPL रद्द हुआ तो BCCI को होगा 4000 करोड़ का नुकसान, भरपाई के लिए कटेगी खिलाड़ियों की सैलरी

कोरोना के चलते आईओसी एथलीट आयोग का चुनाव हुआ स्थगित

कोच हीको हेरलिच को टूथपेस्‍ट और क्रीम खरीदना पड़ा महंगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -