आखिर इमरान ने क्यों किया पीएम मोदी का समर्थन ? ये है इसके पीछे का गणित

Apr 12 2019 06:30 PM
आखिर इमरान ने क्यों किया पीएम मोदी का समर्थन ? ये है इसके पीछे का गणित

इस्लामाबाद:  नरेंद्र मोदी के दूसरी बार भारत के प्रधानमंत्री बनने पर ही पाकिस्तान के साथ संबंध सुधरने का बयान देकर पाक पीएम इमरान खान ने दोनों देशों के आम जनता को हैरान कर दिया है, किन्तु राजनीति के धुरंधर इमरान के इस बयान के पीछे का असली मकसद बखूबी समझ रहे हैं। विश्लेषकों की मानें तो इमरान, पुलवामा हमले के बाद बालाकोट में हुए हवाई हमले की इजाजत देने वाले पीएम नरेंद्र मोदी को साधकर पाकिस्तान के प्रति पश्चिमी देशों के रवैये में नरमी लाने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि इमरान खान के इस बयान के बाद भारत में विपक्षी पार्टियों ने पीएम मोदी को जमकर घेरा है।

दरअसल, इमरान सरकार के सामने पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की एक बड़ी चुनौती है। पाकिस्तान को फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तरफ से काली सूची भी डाला जा सकता है। अमेरिकी सांसदों के विरोध की वजह से पाकिस्तान को इंटरनैशनल मॉनेटरी फंड (IMF) से राहत पैकेज मिलना भी कठिन है। बताया जा रहा है कि ऐसी विषम परिस्थितियों से घिरे पाक पीएम ने भारतीय पीएम मोदी का समर्थन कर न केवल भारत बल्कि पश्चिमी देशों और बड़ी ताकतों के बीच अपनी छवि सुधारने का प्रयास करने की दूरदृष्टि दिखाई है। 

पाकिस्तान अभी तक वित्तीय संकट का मुकाबला खाड़ी देशों से वित्तीय सहायता के लिए करने का प्रयास करता रहा है, किन्तु यह सहायता उसके लिए पर्याप्त नहीं है। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए इमरान खान पश्चिमी देशों से सहायता लेना चाहते हैं और इस कारण वे अपनी साख मजबूत करने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि, पाकिस्तान को अपने परंपरागत सहयोगी चीन से भी सहायता मिल रही है, किन्तु इसके बाद भी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के लिए मुश्किलें कम नहीं हो रही। 

खबरें और भी:-

यूनाइटेड किंगडम और यूरोपियन यूनियन के बीच बनी ब्रेग्जिट की तारीख बढ़ाने पर सहमति

Video : दुनिया में सबसे बड़ा है इस शख्स का मुंह, समा जाती है बोतल

आयरलैंड में चोरों के हौंसले बुलंद, क्रेन से उखाड़ कर एटीएम चुराया