परमाणु सशस्त्र देशो के बीच युद्ध 'आत्मघाती' कदम साबित होगा : इमरान खान

Jan 09 2019 09:35 AM
परमाणु सशस्त्र देशो के बीच युद्ध 'आत्मघाती' कदम साबित होगा : इमरान खान

इस्लामाबाद : प्रधान मंत्री इमरान खान ने भारत पर अपने शांति के प्रस्तावों का जवाब नहीं देने का आरोप लगाया है और बताया है कि दो परमाणु सशस्त्र देशो के बीच कोई भी युद्ध दोनों देशों के लिए 'आत्मघाती' कदम साबित होगा. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के अनुसार पीएम इमरान खान ने अब भी भारत से बातचीत की इच्छा जाहिर की है. उनका मानना है कि कोल्ड वॉर भी दोनों देशों के हित में नहीं है.

चीन में भारत के नए राजदूत बने विक्रम मिस्त्री

आत्महत्या की तरह हैं

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इमरान खान की पार्टी ने उनके हवाले से बताया, 'दो परमाणु सशस्त्र देशों को युद्ध के बारे में नहीं सोचना चाहिए. कोल्ड वॉर के बारे में भी नहीं क्योंकि यह किसी भी समय बहुत खराब रुख अख्तियार कर सकता है. केवल द्विपक्षीय वार्ता ही एक रास्ता हो सकता है. परमाणु सशस्त्र देशों के लिए युद्ध एक आत्महत्या की तरह हैं.

मानव तस्करी की डरावनी हकीकत से पर्दा उठाती संयुक्त राष्ट्र की यह रिपोर्ट

भारत ने नहीं दिया जवाब 

प्राप्त जानकारी अनुसार इमरान के मुताबिक भारत ने उनके शांति प्रस्ताव का भी जवाब नहीं दिया. भारत अभी भी अपनी बात पर टिका है कि आतंक और बातचीत एक साथ नहीं हो सकती है. भारत को प्रस्ताव दिया गया था कि वह एक कदम आगे बढ़ेंगे तो हम दो कदम आगे आएंगे. लेकिन भारत ने पाकिस्तान के बातचीत के कई प्रस्ताव अस्वीकार कर दिए हैं.

बेबीसिटर के पास जिन्दा बच्चा छोड़कर गई माँ, जब वापिस मिला तो मृत था नवजात

शरीफ की सजा निलंबित करने की याचिका अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित

ट्रंप ने रखा प्रस्ताव, मैक्सिको सीमा पर कंक्रीट की जगह बनायें स्टील की दीवार