भारत की एटीपी टेनिस रैंकिंग में सुधार

Apr 16 2018 05:17 PM
भारत की एटीपी टेनिस रैंकिंग में सुधार

नई दिल्लीः  सोमदेव देववर्मन के जुलाई 2011 में करियर की सर्वश्रेष्ठ 62वीं रैंकिंग के बाद ताइपै चैलेंजर में खिताबी जीत की बदौलत भारत के युकी भांबरी ने आज जारी एटीपी टेनिस रैंकिंग में फरवरी 2016 के बाद शीर्ष 100 में वापसी की.  युकी 22 स्थान की छलांग के साथ करियर की सर्वश्रेष्ठ 83वीं रैंकिंग पर पहुंच गए हैं. युकी की यह रैंकिंग एटीपी एकल सूची में किसी भारतीय की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है. युकी ने पहली बार वर्ष 2015 में शीर्ष 100 में जगह बनाई थी लेकिन चोटों के कारण वह आगे नहीं बढ़ सके. हालांकि अपने जज्बे की बदौलत इस 25 वर्षीय खिलाड़ी ने एक बार फिर शीर्ष 100 में वापसी की और अगर वह इस रैंकिंग को बरकरार रखते हैं तो उन्हें ग्रैंडस्लैम और एटीपी 1000 सीरीज मास्टर्स में सीधे प्रवेश मिलेगा.

युगल में दिविज शरण एक स्थान के फायदे से करियर की सर्वश्रेष्ठ 41वीं रैंकिंग पर हैं. डेविस कप में सबसे सफल युगल खिलाड़ी बने लिएंडर पेस चार स्थान के नुकसान से 49वें स्थान पर खिसक गए हैं. रोहन बोपन्ना 19वें स्थान के साथ भारत के शीर्ष युगल खिलाड़ी हैं. इस बीच डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना तीन स्थान के फायदे से करियर की सर्वश्रेष्ठ 194वीं रैंकिंग पर पहुंच गई हैं. करमन कौर थंडी एक स्थान के नुकसान से 268वें पायदान पर हैं. कोर्ट से दूर सानिया मिर्जा युगल में 24वें स्थान पर बरकार हैं.


युकी ने कहा, ‘‘यह सिर्फ शुरुआत है, मुझे काफी आगे बढऩा है और मैं चुनौती के लिए तैयार हूं।’’ यह पूछने पर कि क्या उनका लक्ष्य शीर्ष 50 में जगह बनाना है तो उन्होंने कहा, ‘‘नहीं, अभी नहीं. इसके लिए लंबा रास्ता तय करना है.’’ ताइपे में उप विजेता रहे युकी के डेविस कप साथी रामकुमार रामनाथन भी 17 स्थान के फायदे से करियर की सर्वश्रेष्ठ 116वीं रैंकिंग पर पहुंच गए हैं. सुमित नागल दो स्थान के नुकसान से 215वें नंबर पर हैं जबकि उनके बाद प्रजनेश गुणेश्वरन (266) और अर्जुन काधे (394) का नंबर आता है. 

कॉमनवेल्थ सम्मेलन: भारत बड़ी जिम्मेदारी की तैयारी में

CWG : भारत के लिए आज का छटा गोल्ड लाये सुमित

CWG : सीजीएफ के फैसले के खिलाफ अपील करेगा भारत

 

?