लवलीना का बड़ा बयान, कहा- "विश्व चैंपियनशिप की हार से अहम सबक..."

ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों से पहले IBA वर्ल्ड चैम्पियनशिप के प्री-क्वार्टर फाइनल से बाहर होने को एक बहुत आवश्यक ‘सीख' मान रही है। तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना का विश्व चैम्पियनशिप में अभियान 70 किग्रा वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में निराशाजनक हार के खत्म हुआ था।

बीते वर्ष तोक्यो में पोडियम पर अपना अभियान समाप्त  करने के उपरांत अपनी पहली इंटरनेशनल प्रतियोगिता में लवलीना को ‘फेयर चांस टीम' (देश छोड़ने के लिए मजबूर होने वाले खिलाड़ी) की सिंडी नगाम्बा ने 4-1 से मात दी थी। लवलीना ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में देश के तीन पदक विजेता निकहत जरीन (गोल्ड, 52 किग्रा), मनीषा मौन (कांस्य, 57 किग्रा) और परवीन हुड्डा (कांस्य, 63 किग्रा) के सम्मान समारोह के कार्यक्रम के इतर बोला है  कि मेरी तैयारी (विश्व चैंपियनशिप के लिए) इतनी अच्छी नहीं है। 

ओलंपिक के बाद बहुत सी चीजें बदलने लगी है। मुझे कई चीजों को वक़्त देना था, प्रतिबद्धताओं को पूरा करना था। उन्होंने बोला है कि लेकिन जैसा कि एक कहावत है कि आप अपनी जीत से नहीं सीख पाते है, आप अपनी हार से सीखते हैं और इस हार ने मुझे बहुत महत्वपूर्ण सबक भी सीखा दिया है। भविष्य के लक्ष्यों के बारे में पूछे जाने पर असम की इस मुक्केबाज ने बोला है कि मेरा मुख्य लक्ष्य अब भी ओलंपिक गोल्ड है, लेकिन मुझे इसके लिए कदम दर कदम चलना पड़ेगा। ऐसे में मेरा अगला कदम राष्ट्रमंडल खेल है और मैं वहां चैंपियन बनना चाह रही है।  

IPL 2022 के मेगा ऑक्शन में अनसोल्ड रहे थे 'किलर' मिलर, आज हैं गुजरात टाइटंस की जान

गुजरात टाइटंस ने IPL 2022 के फाइनल में बनाई जगह, RR के कप्तान संजू सेमसन ने बताया हार का कारण

एबी डिविलियर्स का बड़ा ऐलान, इस टीम के साथ अगले साल करेंगे वापसी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -