आईएमएफ ने जताई भारत की GDP में गिरावट की आशंका

वाशिंगटन : अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) के अनुसार भारत की वृद्धि दर 2019 और 2020 के दरम्यान घट सकती है। आईएमएफ ने दोनों वर्षों के लिए वृद्धि दर के अनुमान में 0.3-0.3 प्रतिशत की कमी की है। यह घरेलू मांग के उम्मीद से कमजोर परिदृश्य को दिखाता है। आईएमएफ के ताजा अनुमान के मुताबिक 2019 में भारत की वृद्धि दर सात प्रतिशत और 2020 में 7.2 प्रतिशत रहेगी। वाशिंगटन के वित्तीय संस्थान ने हालांकि कहा है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली प्रमुख अर्थव्यवस्था बना रहेगा और यह चीन से काफी आगे होगा।

आईएमएफ ने कहा कि उसने दोनों वर्षों के लिए भारत की वृद्धि दर के अनुमान में 0.3-0.3 प्रतिशत की कटौती की है। आईएमएफ ने अपने विश्व आर्थिक परिदृश्य ‘अपडेट’ में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2019 में सात प्रतिशत रहेगी और 2020 में कुछ बढ़कर 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी। इसकी वजह उम्मीद से कमजोर घरेलू मांग परिदृश्य है।

आईएमएफ ने कहा कि चीन में शुल्क वृद्धि के नकारात्मक प्रभाव और कमजोर बाहरी मांग से पहले से संरचनात्मक सुस्ती झेल रही अर्थव्यवस्था पर दबाव और बढ़ेगा। कर्ज पर अत्यधिक निर्भरता को कम करने के लिए चीन को नियामकीय मजबूती की जरूरत होगी। आईएमएफ ने कहा कि नीतिगत समर्थन की वजह से चीन की वृद्धि दर 2019 में 6.2 प्रतिशत और 2020 में 6 प्रतिशत रहने का अनुमान है।

रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी के खिलाफ अवमानना की याचिका खारिज

इस ग्लोबल लिस्ट में रिलायंस इंडस्ट्रीज बनी सबसे ऊंची रैंकिंग वाली भारतीय कंपनी

शेयर बाजार में भारी गिरावट से निवेशकों को भारी नुकसान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -