अवैध खनन के तहत रेत से भरा ट्रक झोपड़ी में घुसा: तीन की मौत, दो घायल

भोपाल। भोपाल में खदान माफिया रात के अंधेरे में रेत खनन कर रहे हैं. तथा 'एनजीटी' नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने खनन पर रोक लगाने के बावजूद अवैध खनन  हो रहा है व प्रशासन इन्हे रोक पाने में असमर्थ हो रहा है. इसका एक दु:खद नतीजा एक परिवार को भुगतना पड़ गया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सीहाेर जिले के नसरूलागंज में रूजनखेड़ी के समीप सड़क किनारे बनी एक झोपड़ी में शुक्रवार सुबह 4 बजे रेत से भरा ट्रक जा घुसा, तथा इस दर्दनाक हादसे में  सावन सिंह(45), उसकी पत्नी सविता बाई और 14 साल की बेटी प्रार्थना की रेत में दबने से दम घुटने पर मौत हो गई व दो बच्चे जिनका नाम प्रियांशु व दीपांशु है जख्मी हो गए है. खबर है की ट्रक ड्राइवर द्वारा अचानक सामने आईं दो गायों को बचाने के चक्कर में ट्रक अंधगति से अनियंत्रित होकर सड़क किनारे झोपड़ी में जा घुसा जहां पर यह परिवार सो रहा था. 

गौरतलब है की सोमवार को प्रशासन ने नसरुल्लागंज के नर्मदा तटीय घाट छीपानेर में अवैध रूप से रेत ले जा रहे 80 डंपरों को जब्त किया था. तथा इसलिए खदान माफिया रात के अंधेरे में रेत खनन कर रहे थे, जिसके कारण इन वाहनों के आने का सिलसिला सुबह तक चलता रहता है. व पकड़े जाने के डर से ऐसे हादसे को अंजाम दे जाते है.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -