मिनटों में यह ट्रैकर कर लेगा कोरोना संक्रमण के लक्षण ट्रेस

भारत की आईआईटी अपने-अपने तरीके से नए शोधों के माध्यम से कोरोना से लड़ाई लड़ने में लगे हैं. पहले शोध के दौरान इस बात पर जोर था कि कोरोना से फौरी तौर पर कैसे राहत दिलाई जाए. कैसे सेनिटाइजर, वेंटिलेटर और सोशल डिस्टैंसिंग के मूलभूत माध्यमों को उपलब्ध कराया जाए. पर अब रिसर्च में इस बात पर भी प्रमुखता से जोर दिया जा रहा है कि लॉकडाउन के बाद जब लोग घर से बाहर होंगे तो किन बातों का ख्याल रखा जाना चाहिए, ताकि कोरोना के संक्रमण से बचा जाए. इसी फेहरिस्त में आईआईटी मद्रास ने एक ऐसी डिवाइस का निर्माण किया है, जो कोरोना के लक्षण बताने में मददगार साबित होगी.

कोरोना पर इंदौर की बड़ी जीत, आज अस्पताल से डिस्चार्ज हुए 100 से अधिक मरीज

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आईआईटी मद्रास के इनक्यूबेटेड स्टॉर्ट-अप ने एक कलाई आधारित ट्रैकर विकसित किया है, जो त्वचा का तापमान, हृदय गति, ब्लड- ऑक्सीजन सेचुरेशन आदि के बारे में जानकारी देगा. यह डिवाइस लगातार शरीर पर नजर रखेगा, ताकि कोरोना के लक्षण के बारे में समय से जानकारी मिल सकें. इस ट्रैकर में ब्लूटूथ लगा हुआ है. इसे म्यूज हेल्थ एप के द्वारा मोबाइल फोन से कनेक्टेड किया जा सकता है. इससे तापमान, हृदय गति और एक्टिविटी जैसे कि दौड़ना, सीढ़ी चढ़ना आदि फोन पर भी रिकॉर्ड हो सकते हैं.

प्रयागराज में श्रमिकों से भरी बस पलटी, 25 मजदुर घायल

अगर आपको नही पता तो बता दे कि यह ट्रैकर आरोग्य सेतु ऐप से लगातार नोटिफिकेशन ले सकता है. इससे यूजर जब कंटेनमेंट जोन में प्रवेश करेगा तो उसको पहले ही अलर्ट आ जाएगा. स्टॉर्ट-अप को उम्मीद है कि आने वाले 15 दिनों में यह प्रोडक्ट बाजार में होगा. मौजूदा हालात को देखते हुए यह ट्रैकर काफी प्रभावकारी साबित हो सकता है.

24 घंटों में मिले अब तक के सबसे ज्यादा कोरोना मरीज, लॉकडाउन में छूट पड़ी भारी

कर्नाटक : राज्य में वायरस फैलने से रोकने के लिए सरकार ने बनाया नया प्लान

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच लद्दाख में आज मनेगी ईद, नज़र आया चाँद

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Live Election Result

Gujarat BJP CONGRESS
182 157 16
Himachal Pradesh CONGRESS BJP
68 39 26

Most Popular

- Sponsored Advert -