कोरोना के कचरे को वायरस से मुक्त कर देगा यह ​अनोखा बॉक्स

कोरोना को समाप्त करने के लिए शोध संस्थान और वैज्ञानिक अब लॉकडाउन के बाद की स्थिति पर भी काम कर रहे हैं. इन शोधों में इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि कैसे देश की अर्थव्यवस्था का पहिया चलता रहे और साथ ही लोग बीमार भी न हों. इसके लिए सबसे जरूरी है- बचाव, रोकथाम, नियमों का पालन और सचेत रहना.

केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र, सीएम तमांग ने जताई आपत्ति

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इसी क्रम में आईआईटी गुवाहटी के वैज्ञानिकों ने एक डिवाइस का निर्माण किया है, जो कोरोना से बचाव में काफी कारगर होगी. आईआईटी गुवाहटी के वैज्ञानिकों ने कम कीमत वाला यूवीसी लाइट आधारित डिसइंफेक्टेंट बॉक्स का निर्माण किया है. इसकी मदद से आप ग्लब्स, मास्क आदि को फेंकने से पहले संक्रमणमुक्त कर सकते हैं. इसकी मदद से हम फ्लोर को भी डिसइंफेक्ट कर सकते हैं.

अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा चीन, सीमा पर कर रहा भारत विरोधी काम

अपने बयान में आईआईटी गुवाहटी के सेंटर फॉर एनर्जी के शिक्षक डॉ हर्ष चतुर्वेदी ने बताया कि हमने एक यूवीसी लाइट आधारित कम कीमत वाली एक डिवाइस बनाई है. उन्होंने कहा कि अक्सर ऐसा होता है कि हम मास्क, दस्ताने या मेडिकल एसिसरीज का प्रयोग करने के बाद उन्हें ऐसे ही फेंक देते हैं. फेंकने के पहले उन्हें हम संक्रमणमुक्त नहीं करते हैं. ऐसा करना बेहद जरूरी है. संक्रमणमुक्त न करने की वजह से इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है. इसलिए इस डिवाइस के द्वारा इन्हें फेंकने से पहले संक्रमणमुक्त कर सकते हैं. इसकी मदद से मेडिकल एसेसरीज के साथ-साथ कमरे और फ्लोर को भी सेनिटाइज किया जा सकता है.

यहां पर महिलाओं का एक समूह बना रहा डिजाइनर मास्क और सैनिजटाइजर

वंदे भारत मिशन के तहत विमान से 177 यात्री लौटे स्वदेश

कोरोना को जड़ से मिटा सकती है यह दवा, वैक्सीन की दौड़ में चल रही सबसे आगे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -