चिलचिलाती धूप में हो गए हैं हीट रैशेज, तो इन नुस्खों से पाएं छुटकारा

चिलचिलाती धूप में हो गए हैं हीट रैशेज, तो इन नुस्खों से पाएं छुटकारा
Share:

जैसे-जैसे दिल्ली-एनसीआर और उत्तरी भारत में भीषण गर्मी पड़ रही है, लोग गर्मी से जुड़ी गंभीर समस्याओं से जूझ रहे हैं। लगातार गर्मी के कारण निर्जलीकरण, स्ट्रोक और हीट रैश आम समस्या बन गए हैं। हीट रैश, विशेष रूप से संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को बहुत परेशानी का कारण बन रहे हैं, जिससे छोटे-छोटे खुजली वाले दाने और जलन हो रही है, जो पसीने से और बढ़ जाती है। गर्मी के महीनों में आराम और सेहत बनाए रखने के लिए हीट रैश से निपटना बहुत ज़रूरी है।

हीट रैश के कारण:
गर्मियों के दौरान हीट रैश की व्यापकता तब बढ़ जाती है जब पसीने की नलिकाएं अवरुद्ध हो जाती हैं, जिसके परिणामस्वरूप हीट रैश बनते हैं। सिंथेटिक कपड़े इस स्थिति को और बढ़ा देते हैं, जिससे त्वचा पर गर्मी और पसीना फंस जाता है। तेज धूप के संपर्क में आने से भी हीट रैश विकसित होते हैं, साथ ही टाइट-फिटिंग कपड़े पहनने से भी हीट रैश विकसित होते हैं।

निवारक उपाय:
हीट रैश को रोकने के लिए, विशेष रूप से पीक ऑवर्स के दौरान, सीधे धूप में लंबे समय तक रहने से बचना उचित है। बाहर निकलते समय, टोपी पहनना या छाता लेकर चलना छाया और सुरक्षा प्रदान कर सकता है। नियमित रूप से स्नान करना, अधिमानतः दिन में दो बार, त्वचा के छिद्रों को खुला रखने में मदद करता है, जिससे हीट रैश का जोखिम कम होता है। गर्मी को कम करने और वायु प्रवाह को बढ़ावा देने के लिए बार-बार कपड़े बदलना, विशेष रूप से हल्के सूती कपड़े पहनना आवश्यक है। इसके अतिरिक्त, नहाने के पानी में नीम का तेल या नीम के पत्ते मिलाने से हीट रैश के लक्षणों को कम करने के लिए उनके जीवाणुरोधी गुणों का लाभ उठाया जा सकता है।

निष्कर्ष के तौर पर, दिल्ली-एनसीआर में भीषण गर्मी के दौरान हीट रैश से निपटने के लिए इसकी घटना को कम करने और असुविधा को कम करने के लिए सक्रिय उपाय करने की आवश्यकता है। सिंथेटिक कपड़ों से बचने, हाइड्रेटेड रहने और अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करने जैसी रणनीतियों को अपनाकर, व्यक्ति हीट रैश को प्रभावी ढंग से प्रबंधित कर सकते हैं और अधिक आरामदायक गर्मियों का अनुभव कर सकते हैं।

जानिए क्या है मॉर्निंग डिप्रेशन का कारण और इससे बचाव के तरीके

कोल्ड ड्रिंक की जगह गर्मियों में पिएं ये फलों का जूस, अंदर से मिलेगी ठंडक

अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं और करेला बहुत खाते हैं तो सावधान हो जाएं, नहीं तो आपकी किडनी हो जाएगी फेल

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -