मनाली जाने का बना रहे है मन तो एक नज़र डाल लें इन तस्वीरों पर

शिमला: हिमाचल प्रदेश के पर्यटन नगरी मनाली समेत जिला लाहौल स्पीती में ठंड का टॉर्चर  हर दिन बढ़ता जा रहा है. दिसंबर का माह कुछ ही दिनों में समाप्त होने वाला है, ऐसे में सर्दियां भी अपने पूरे चरम पर आ चुकी है. पहाडों से लेकर मैदानों तक हर जगह ठंड ने अपना कहर दिखाना शुरू कर दिया है. समूचा उत्‍तर  इंडिया इन दिनों कडाके की ठंड की चपेट में है. ठंड भी ऐसी की हाड़ जी हड्डी को भी कंपा दे.

लोगों क प्रातः और सांय ठंड से बचने के लिए अलाव और गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ता है. एक तरफ जहां ठंड मैदानी क्षेत्रों में अपना कहर जमकर बरपा रही है तो वंही पहाडों पर स्थिती उससे भी ज्यादा भयानक है. पहाडों में तापमान माइनस में आ चुका है, जिससे घाटी के लोगों को खासी  परेशानी का सामना करना पड़ता है.

मनाली सहित जिला लाहौल स्पीती की तो इन दिनों पूरी घाटी शीतलहर की चपेट में आ चुकी है. घाटी में रोजाना सुबह सांय माइनस में तापमान जाने से मनाली व इसके आसपास के इलाकों में ठंड  हर दिन बढ़ती जा रही है. खबरों की माने तो ठंड का प्रकोप अब कुछ इस तरह बढ़ने लगा है कि अब घाटी में बहने वाले नदी-नाले भी जमते जा रहे है. इसके साथ ही जिला लाहौल स्पीति के प्रसिद्व पर्यटन स्थल सिसू में स्थित झील भी माइनस तापमान की वजह से जम गई है.

घाटी में निरंतर बढ़ती जा रही ठंड ने अब यहां के रहने बाशिदों की परेशानियों को और भी ज्यादा बढ़ा दिया है. मनाली के ऊपरी इलाकों सहित जिला लाहैाल स्पीति में तो अब तापमान माइनस में पंहुचने से बहता पानी भी जमने लगा है जो अब बर्फ का रूप लेने लगा है. वहीं यह भी कहा जा रहा है कि स्थानीय लोगों की मानें तो उनका बोलना है कि घाटी में दिनों तापमान  प्रातः और सांय के वक़्त माइनस में जा रहा है जिससे यहां पर बहने वाले नदी-नाले भी अब जमने आरम्भ हो गए है. हांलाकि दिन के समय तापमान में कुछ वृद्वि हो रही है .

बड़ी खबर: अब 21 वर्ष से कम उम्र के लड़के के साथ विवाह करना होगा प्रतिबंधित, जानिए पूरा मामला

कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट से प्रधानमंत्री की फोटोज हटाने की मांग करना पड़ गया भारी

भारत में Omicron के 200 मरीज, दिल्ली-महाराष्ट्र ने फिर बढ़ाई टेंशन.., क्या लगेगा लॉकडाउन ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -