अगर आप भी गर्मियों में अपने चेहरे पर ब्लीच का इस्तेमाल करती हैं तो हो जाएं सावधान

अगर आप भी गर्मियों में अपने चेहरे पर ब्लीच का इस्तेमाल करती हैं तो हो जाएं सावधान
Share:

चेहरे की ब्लीचिंग एक आम कॉस्मेटिक प्रक्रिया है जिसमें त्वचा को हल्का करने के लिए उस पर एक रासायनिक घोल लगाया जाता है। इसका मुख्य लक्ष्य काले धब्बे, दाग-धब्बे और असमान त्वचा टोन को कम करना है।

लोग अपना चेहरा क्यों ब्लीच करते हैं?

लोग विभिन्न कारणों से अपने चेहरे को ब्लीच करते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करना: मुँहासे, सूर्य की क्षति या उम्र बढ़ने के कारण होने वाले काले धब्बों को हल्का करना।
  • एक समान त्वचा टोन प्राप्त करना: एक समान रंगत बनाना।
  • सांस्कृतिक और सौंदर्य संबंधी प्राथमिकताएं: कुछ संस्कृतियों में, गोरी त्वचा को अक्सर अधिक आकर्षक माना जाता है।

गर्मियों में चेहरा ब्लीच करने के जोखिम

सूर्य के प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता में वृद्धि

ब्लीचिंग एजेंट आपकी त्वचा को सूरज के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकते हैं। इस बढ़ी हुई संवेदनशीलता के कारण निम्न हो सकते हैं:

  • सनबर्न: आपकी त्वचा जलने के प्रति अधिक संवेदनशील होती है, जिससे दर्द, लालिमा और छीलन हो सकती है।
  • हाइपरपिग्मेंटेशन: विडंबना यह है कि, यदि आप सावधान नहीं हैं तो आपकी त्वचा को हल्का करने के लिए की जाने वाली प्रक्रिया के परिणामस्वरूप और अधिक काले धब्बे हो सकते हैं।

यूवी किरणों के साथ रासायनिक प्रतिक्रियाएं

हाइड्रोक्विनोन, हाइड्रोजन पेरोक्साइड और अमोनियम हाइड्रॉक्साइड जैसे ब्लीचिंग रसायन सूर्य से आने वाली पराबैंगनी (UV) किरणों के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं। इस प्रतिक्रिया के कारण हो सकता है:

  • त्वचा में जलन: लालिमा, खुजली और सूजन।
  • फोटोएलर्जिक प्रतिक्रियाएं: ब्लीचिंग उत्पादों के उपयोग के बाद सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने से उत्पन्न होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाएं।

निर्जलीकरण और त्वचा की क्षति

गर्मी की वजह से आपकी त्वचा में नमी की कमी हो सकती है और इसे ब्लीचिंग के कठोर रसायनों के साथ मिलाने से समस्या और भी बढ़ सकती है। इसके परिणामस्वरूप हो सकता है:

  • सूखापन और परतदारपन: आपकी त्वचा शुष्क और परतदार हो सकती है।
  • बाधा क्षति: त्वचा की बाधा कार्य प्रणाली में कमी, जिसके कारण संक्रमण के प्रति संवेदनशीलता और संवेदनशीलता बढ़ जाती है।

गर्मियों में चेहरे पर ब्लीच का इस्तेमाल करते समय बरती जाने वाली सावधानियां

सही समय चुनें

अपने चेहरे को धूप के तेज़ घंटों के दौरान ब्लीच करने से बचें। सुबह या शाम को ब्लीच करने का विकल्प चुनें, जब सूरज की किरणें कम तेज़ होती हैं।

सूर्य से सुरक्षा का प्रयोग करें

हमेशा कम से कम एसपीएफ 30 वाला ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन लगाएं। हर दो घंटे में इसे दोबारा लगाएं, खासकर यदि आप बाहर समय बिता रहे हों।

उदारतापूर्वक मॉइस्चराइज़ करें

अपनी त्वचा को हाइड्रेटेड रखें। ब्लीच के शुष्क प्रभाव को कम करने के लिए सौम्य, हाइड्रेटिंग मॉइस्चराइज़र का उपयोग करें।

पैच परीक्षण करें

अपने पूरे चेहरे पर ब्लीच लगाने से पहले पैच टेस्ट करें। इससे यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि आपको कोई प्रतिकूल प्रतिक्रिया नहीं होगी।

सीमा आवृत्ति

ब्लीचिंग उत्पादों का अधिक उपयोग न करें। उपचारों के बीच अपनी त्वचा को ठीक होने का समय दें।

पेशेवर सलाह लें

किसी भी ब्लीचिंग प्रक्रिया को शुरू करने से पहले, खास तौर पर गर्मियों के दौरान, त्वचा विशेषज्ञ से सलाह लें। वे उपयुक्त उत्पादों की सिफारिश कर सकते हैं और आपकी त्वचा के प्रकार के अनुसार मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं।

गर्मियों के लिए त्वचा को गोरा करने के वैकल्पिक तरीके

प्राकृतिक उपचार

रासायनिक ब्लीच के बजाय प्राकृतिक विकल्पों पर विचार करें। इनमें शामिल हैं:

  • नींबू का रस: इसमें प्राकृतिक ब्लीचिंग गुण होते हैं।
  • एलोवेरा: त्वचा को हल्का करने और जलन को शांत करने में मदद करता है।
  • हल्दी: यह अपने सूजन रोधी और त्वचा को हल्का करने वाले प्रभाव के लिए जानी जाती है।

रासायनिक छीलन

त्वचा को गोरा करने के लिए रासायनिक छिलके भी एक अन्य विकल्प हैं, लेकिन संवेदनशीलता संबंधी समस्याओं के कारण गर्मियों में इनका प्रयोग सावधानी से किया जाना चाहिए।

लेजर उपचार

लेजर उपचार से काले धब्बे और रंजकता को प्रभावी रूप से कम किया जा सकता है, लेकिन उपचार के बाद पेशेवर पर्यवेक्षण और सख्त धूप से सुरक्षा की आवश्यकता होती है।

ब्लीचिंग के बाद देखभाल के सुझाव

हाइड्रेटेड रहना

अपनी त्वचा को अंदर से बाहर तक हाइड्रेटेड रखने के लिए खूब पानी पियें।

कोमल सफाई

अपना चेहरा धोने के लिए हल्के क्लींजर का इस्तेमाल करें। कठोर स्क्रब का इस्तेमाल करने से बचें, क्योंकि इससे आपकी संवेदनशील त्वचा में जलन हो सकती है।

कठोर उत्पादों से बचें

ब्लीचिंग के तुरंत बाद रेटिनोइड्स या एसिड जैसे तीव्र रसायन वाले उत्पादों से दूर रहें।

ठंडा सेक

यदि आपको त्वचा में जलन महसूस हो तो उसे आराम देने के लिए ठंडी सिकाई करें।

सुरक्षात्मक कपड़े

अपने चेहरे को सीधी धूप से बचाने के लिए टोपी और धूप का चश्मा पहनें।

प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं को पहचानना

त्वचा में जलन के लक्षण

के लिए देखो:

  • लालिमा: लगातार बनी रहने वाली लालिमा जो कम नहीं होती।
  • सूजन: विरंजित क्षेत्रों के आसपास असामान्य सूजन।
  • खुजली: गंभीर खुजली जो असुविधा पैदा करती है।

एलर्जी

लक्षणों में ये शामिल हो सकते हैं:

  • पित्ती: उभरे हुए, लाल, खुजली वाले दाने।
  • सांस लेने में कठिनाई: गंभीर मामलों में, तुरंत चिकित्सा सहायता लें।

दीर्घकालिक क्षति

ब्लीचिंग उत्पादों के लगातार उपयोग से निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं:

  • त्वचा का पतला होना: इसे क्षति के प्रति अधिक संवेदनशील बनाना।
  • स्थायी विवर्णता: त्वचा की रंगत में अपरिवर्तनीय परिवर्तन।

सावधान और सूचित रहें

गर्मियों के दौरान अपने चेहरे को ब्लीच करने के लिए सावधानी और उचित देखभाल की आवश्यकता होती है। हालाँकि यह मनचाही त्वचा टोन पाने में मदद कर सकता है, लेकिन सूरज के संपर्क और रासायनिक प्रतिक्रियाओं से जुड़े जोखिमों को नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए। उचित सावधानी बरतकर और सुरक्षित विकल्पों की खोज करके, आप अपनी त्वचा की रक्षा कर सकते हैं और उसके स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं।

इस साल लॉन्च होगी टाटा नेक्सन आईसीएनजी, मारुति ब्रेजा को देगी टक्कर

सेकेंडों में चमकेगा घर का हर कोना, इन एप्स की मदद से रखें साफ-सफाई का खास ख्याल

महिंद्रा लॉन्च करेगी 23 कारें, दशक के अंत तक कारों की लग जाएगी लाइन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -