फोन हो जाए चोरी तो तुरंत करें ये काम, दोबारा कोई नही कर पाएगा इस्तेमाल

फोन हो जाए चोरी तो तुरंत करें ये काम, दोबारा कोई नही कर पाएगा इस्तेमाल

टेक्नोलॉजी के इस दौर में हर एक शख्स अपने बजट के अनुसार मोबाइल फोन रखता है। किन्तु यदि आपका मोबाइल फोन खो जाएं अथवा फिर चोरी हो जाएं, तो न केवल आपको आर्थिक रूप से हानि पहुँचती है, बल्कि आपकी प्राइवेसी तथा सुरक्षा संकट में आ जाती है। मौजूदा समय में मोबाइल फोन के डाटा का उपयोग करके कई प्रकार के बैंकिंग फ्रॉड किये जा सकते हैं। साथ ही अपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा सकता है, जिसके चलते आपको जेल तक जाना पड़ सकता है। 

वही ऐसे में यदि आपका मोबाइल फोन चोरी हो जाएं, तो तुरंत प्रभाव से अपने मोबाइल फोन को ब्लॉक करें, इससे आपके मोबाइल को कोई दूसरा शख्स उपयोग नही कर पाएगा। साथ ही चोरी हुए फोन को बेच भी नही पाएगा, क्योंकि ब्लॉक हुए मोबाइल पर कोई भी नेटवर्क सपोर्ट नही करेगा। 

कैसे करें मोबाइल फोन को ब्लॉक: 
1. मोबाइल फोन चोरी होने पर आपको सबसे प्रथम पुलिस स्टेशन में एक एफआईआर दर्ज करानी होगी। मोबाइल चोरी की रिपोर्ट को ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन मोड से दर्ज कराया जा सकता है। कम्प्लेन दर्ज कराने के पश्चात् शिकायतकर्ता को एफआईआर की प्रति तथा कंप्लेंट नंबर अवश्य लेना चाहिए। 
2. इसके पश्चात् सेंट्रल इक्विपमेंट आईडेंटिटी रजिस्टर (CEIR) के पोर्टल ceir.gov.in पर विजिट करना होगा। CEIR के पास देश के प्रत्येक मोबाइल फोन का डाटा जैसे फोन मॉडल, सिम तथा IMEI नंबर उपस्थित रहता है, जिसकी सहायता से चोरी हुए मोबाइल को तलाशा जाता है। साथ-साथ मोबाइल को ब्लॉक तथा अनलॉक किया जा सकता है। 
3. Ceir.gov.in पर क्लिक करने पर आपको तीन विकल्प Block/Lost Mobile, Check Request Status तथा Un-Block Found Mobile दिखेंगे। इसके पश्चात् चोरी हुए फोन को ब्लॉक करने के लिए Stolen/Lost Mobile विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके पश्चात् एक पेज ओपन होगा, जिसमें आपको अपने मोबाइल की डिटेल दर्ज करनी होगी। 
4. मोबाइल डिटेल के रूप में मोबाइल नंबर, IMEI नंबर डिवाइस ब्रांड, कंपनी, फोन क्रय करने की invoice, फोन खोने की दिनांक दर्ज करनी होगी। इसके अतिरिक्त मोबाइल डिटेल के रूप में राज्य, जिला, फोन चोरी होने का एरिया, कंप्लेंट नंबर दर्ज करना होगा। इसके अतिरिक्त पुलिस कंप्लेंट कॉपी को अपलोड करना होगा। पूरी डिटेल फिल करने के पश्चात् इसे अपलोड करना होगा।  
5. तत्पश्चात, Add more complaint पर क्लिक करना होगा, जिसमें मोबाइल ओनर का नाम, पता, आधार कार्ड के साथ पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस तथा आइडेंटिटी को दर्ज करना होगा। इसके पश्चात् अंतिम बार अपना मोबाइल नंबर दर्ज कराना होगा। 
फिर आपके नंबर पर एक ओटीपी जाएगा। इसके पश्चात् वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. इस प्रकार फाइनल सब्मिट करके मोबाइल फोन को ब्लॉक किया जा सकेगा। साथ-साथ यदि फोन के बारे में कोई डिटेल मिलती है, तो उसे भी उपभोक्ता के पास पहुंचाई जाएगी। 

एक बार फिर लॉन्च होगा माइक्रो मैक्स ब्रांड

मात्र इस कीमत में मिल रही शानदार स्मार्ट टीवी, जानें क्या है इसके फीचर्स

यदि आप भी सुनना चाहते है गानें तो आपके लिए गूगल ने लॉन्च किया ये खास एप