ठंड आते ही कार के कांच में जमने लग जाती है धुंध तो अपनाएं ये खास टिप्स

सर्दियों में कार चलाते वक़्त शीशों पर अंदर की तरफ से भाप जमने लग जाती है। इसके कारण से कार चलाने में बहुत परेशानी होती है, साथ ही किसी भी तरह के हादसे की आशंका और भी ज्यादा बढ़ जाती है। जिससे बचने के लिए हम आपको कुछ आसान से उपाय बताने जा रहे हैं। ताकि आगे से आप इस परेशानी से भी बच सकते है।

कार के शीशों पर भाप जमने की मुख्य वजह से, कार के अंदर और बाहर के तापमान में अंतर होने वाला है। आपने नोटिस किया होगा, जब कार कहीं खड़ी होती है और खाली होती है। तब अंदर की तरफ से शीशे साफ़ होते हैं, लेकिन जब कार में यात्री सवार होते हैं, तो कार के शीशों में अंदर की तरफ से भाप जमने लगती है। दरअसल यात्रियों के सवार होने के बाद कार के अंदर के तापमान में बढ़ोतरी देखने के लिए मिली है।

दुर्घटना की आशंका: शीशे पर भाप का जमना यात्रा के वक़्त सीधे-सीधे खतरे को निमंत्रण देने जैसा है। क्योंकि जिसकी वजह से कार चलाने वाला रास्ता ठीक से नहीं देख पाता। जिससे कोई भी अनहोनी होने वाली है।

शीशों को थोड़ा खुला रखें: सर्दियों में कार से कहीं भी आते-जाते वक़्त शीशों को थोड़ा सा खुला रखकर, इस परेशानी से भी बच सकते है। इससे कार के अंदर और बाहर का तापमान बराबर बना रहेगा और शीशों पर भाप नहीं जमने लग जाती है।

एसी या ब्लोअर का कर सकते हैं प्रयोग: नॉर्मली सर्दियों में कार चलाते वक्त एसी का प्रयोग कम ही लोग कर रहे है। लेकिन सर्दियों में एसी चलाने से एसी वेंट में जमने वाली फंगस से भी बचा भी सकते है।  जिसके साथ साथ  यदि  आप एसी का प्रयोग नहीं करना चाहते, तो ब्लोअर का प्रयोग कर सकते हैं। इससे कार के माइलेज पर भी कोई खर्च नहीं पड़ता और विंडशिल पर जमने वाली भाप से भी छुटकारा मिल जाता है। साथ ही कार का केबिन भी गर्म बना रहता है, जिससे ड्राइविंग में भी थोड़ी सहूलियत होने लग जाती है।

10 लाख तक का है आपका बजट तो बेस्ट है आपके लिए ये कार

अपना भी बजट तैयार कर लो आप, इस माह भारत में पेश होगी ये कार

भारत के युवक ने किया कमाल...बना दी 6 सवारी वाली बाइक, आनंद महिंद्रा भी हुए हैरान

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -