आईसीआईसीआई बैंक का लक्ष्य एक्ज़िम ट्रेड ट्रांजैक्शन मार्केट में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाना है

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि देश के दूसरे सबसे बड़े निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक ने इस वित्तीय वर्ष में एक्ज़िम व्यापार संचालन में अपनी बाजार हिस्सेदारी बढ़ाई है और देश के निर्यात के विकास के साथ-साथ इसे और भी बढ़ाने की योजना है। आईसीआईसीआई बैंक की कार्यकारी निदेशक विशाखा मुले के अनुसार, सितंबर तिमाही में एक्ज़िम व्यापार में बैंक की बाजार हिस्सेदारी बढ़कर 7.5 प्रतिशत हो गई, जो वित्त वर्ष 2020 में 6 प्रतिशत थी।

मुले ने कहा कि सरकार के उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत बढ़ी हुई मांग और निवेश के परिणामस्वरूप आने वाले महीनों में देश के निर्यात में तेजी आने का अनुमान है, जिससे बैंक को अपनी बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीनों में देश का निर्यात कुल 370 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, जबकि आयात कुल 410 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ।

उनके अनुसार, पीएलआई योजना के तहत निवेश अगले पांच वर्षों में 520 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है, जिसमें बैंक के कई ग्राहक भाग लेने की योजना बना रहे हैं। बैंक ने 'ट्रेड इमर्ज' का भी अनावरण किया, जो एक्जिम प्रतिभागियों के लिए एक नया मंच है, जिसका उपयोग उन संगठनों द्वारा भी किया जा सकता है, जिनका ऋणदाता के पास कोई खाता नहीं है।

जो बिडेन ने जेरोम पॉवेल को दूसरे कार्यकाल के लिए मनोनीत किया

फिच ने इस वर्ष भारत के राजकोषीय घाटा कम होने की उम्मीद जताई

वित्त वर्ष 2022 में भारत की जीडीपी 8.1 प्रतिशत तक बढ़ने की संभावना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -