ख़त्म नहीं हो रहा टेस्ट क्रिकेट, बस थोड़ा बढ़ावा देने की जरुरत- डेव रिचर्डसन

दुबई: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के सीईओ डेव रिचर्डसन ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता है कि टेस्ट क्रिकेट ने अपनी चमक खो दी है, किन्तु उन्होंने कहा है कि पांच दिवसीय प्रारूप को प्रशंसकों के बीच रुचि बरक़रार रखने के लिए थोड़ा बढ़ावा देने की आवश्यकता है. रिचर्डसन के इस बयान को आईसीसी के चेयरमैन शशांक मनोहर के हालिया बयान से जोड़कर देखा जा रहा है, जिन्होंने कहा था कि टेस्ट क्रिकेट धीरे-धीरे ‘समाप्त’ हो रहा है. 

कभी परिवार ने किया था विरोध और आज देश की सबसे बड़ी महिला मुक्केबाज है 'मेरीकॉम'

‘क्रिकइंफो’ ने रिचर्डसन के हवाले से कहा है कि, ‘मनोहर के कहने का तात्पर्य था कि टेस्ट क्रिकेट को अधिक प्रासंगिकता की आवश्यकता है.’उन्होंने कहा है कि, ‘हां, समय समय पर कुछ बेजोड़ मैच होते रहते हैं, किन्तु अगर आप उन प्रतिनिधित्व करने वाली टीमों का हिस्सा या प्रशंसक नहीं है, तो उस निश्चित श्रृंखला को लेकर असली रुचि (वैश्विक स्तर पर प्रशंसकों के बीच) नहीं होती है.’

विश्व कीर्तिमान रचकर आई अपूर्वी चंदेला का हुआ भव्य स्वागत, झलक पाने को टूट पड़े प्रशंसक

रिचर्डसन ने आगे कहा है कि, ‘और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के शुरू होने से इसकी रुचि में इजाफा होगा और टेस्ट मैचों को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देने में सहायता मिलेगी फिर चाहे कोई भी टीम मुक़ाबला खेल रही हो. मनोहर भी यही कह रहे थे. टेस्ट क्रिकेट को इसी अतिरिक्त बढ़ावे की आवश्यकता है, इसको बढ़ावा देने की आवश्यकता है और हम आशा करते हैं कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप इसका जवाब होगी.

खबरें और भी:-

मैक्सिको ओपन : नडाल को शिकस्त देकर क्वार्टरफाइनल में पहुंचे निक किरियोस

शानदार प्रदर्शन की बदौलत लोकेश राहुल ने लगाई आईसीसी टी-20 रैंकिंग में बड़ी छलांग

NZ vs BAN : तमीम इकबाल की शतकीय पारी के बावजूद 234 रनों पर सिमटी बांग्लादेश की पहली पारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -