पेश हुआ दुनिया का सबसे छोटा कंप्यूटर, कीमत पर नहीं होगा यकीन

टेक्निकल क्षेत्र की जानी मानी कंपनी IBM ने दुनिया का सबसे छोटा कम्प्यूटर बनाने का दावा किया है. कंपनी ने एक इवेंट के दौरान अपनी इस माइक्रो कम्प्यूटर को दुनिया के सामने पेश किया. कंपनी के मुताबिक ये एक एंटी फ्रॉड डिवाइस है जो डिजिटल फिंगरप्रिंट के माध्यम से किसी भी रोजमर्रा की वस्तु में जोड़ा जा सकता है. कंपनी ने इस डिवाइस में एक चिप का इस्तेमाल किया है जो कि प्रोसेसर, मेमोरी और स्टोरेज सहित पूरे कंप्यूटर सिस्टम से लैस है. ये माइक्रो कम्प्यूटर अपने आप में एक आश्चर्य तो है ही साथ ही इसकी कीमत भी यकीन के परे होने वाली है. कंपनी का कहना है कि इस डिवाइस को अगले पांच सालों के भीतर बाजार में उतार दिया जाएगा. वहीं इसकी कमर मात्र 7 रूपए होगी.

क्या है एंटी फ्रॉड डिवाइस?

आईबीएम के मुताबिक उसका ये माइक्रो कंप्यूटर एक एंटी फ्रॉड डिवाइस है. ये ऐसी तकनीक विकसित करने में माहिर है जिससे प्रोडक्ट्स पर वाटर मार्क लगाया जा सके. इससे प्रोडक्ट के चोरी होने और धोखाधड़ी जैसे मामलों में कमी देखी जा सकेगी. आईबीएम ने इस डिवाइस को "क्रिप्टो एंकर प्रोग्राम" के तहत तैयार किया है. यही वजह है कि इसे एंटी फ्रॉड डिवाइस का नाम दिया गया है. कंपनी का कहना है कि इस डिवाइस की मदद से प्रोडक्ट के फैक्ट्री से निकलने से लेकर उसकी सप्लाई के बीच में होने वाली छेड़छाड़ पर नजर रखी जा सकेगी.

फैक्ट्री से निकलने से लेकर कंज्यूमर तक पहुंचने के बीच में प्रोडक्ट से होने वाली छेड़छाड़ को रोका जा सकता है. इस डिवाइस की मदद से काला बाजारी और खाद्य समस्याओं से निपटने के लिए उत्पाद में क्रिप्टोग्राफिक्स एंकर लगाए जा सकते हैं. जिससे सप्लाई चेन में होने वाली गड़बड़ी को तुरंत पकड़ा जा सकता है. कंपनी का दावा है कि इस डिवाइस में छोटी सी रेंडम एक्सेस मेमोरी, एलईडी, फोटो डिटेक्टर, फोटोवोल्टिक सेल के साथ 1 लाख ट्रांजिस्टर हैं.

 

ट्विटर के मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी ने छोड़ी कंपनी

iPhone X से लाख गुना अच्छा होगा वनप्लस 6

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -