पुलवामा हमले पर भारत के साथ ईरान, कहा बस... अब बहुत हो गया

तेहरान: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को ईरान के उप विदेश मंत्री सैय्यद अब्बास अरागची के साथ वार्तालाप की, जहां दोनों मंत्रियों के मध्य इस क्षेत्र में आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए द्विपक्षीय संबंधों और देशों के मध्य निकट सहयोग पर विचार विमर्श किया गया। सुषमा स्वराज अपने तीन देशों के दौरे के चलते पहले बुल्गारिया पहुंची, किन्तु उससे पहले ईरान में उनका एक संक्षिप्त ठहराव था, जहां उन्होंने ईरान के उप विदेश मंत्री अरागची से मुलाकात की, दोनों नेताओं ने इसी हफ्ते जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले पर मंथन किया।

न्यूयॉर्क के एक मकान में लगी आग, पांच की मौत

सुषमा स्वराज से मुलाकात करने के बाद हसन रूहानी सरकार के मंत्री अरागची ने ट्वीट करते हुए कहा है कि, 'ईरान और भारत को गत कुछ दिनों में दो जघन्य आतंकवादी हमलों का सामना करना पड़ा है, जिस कारण बहुत नुकसान हुआ है। आज भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ मेरी मुलाकात में इस क्षेत्र में आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए निकट सहयोग पर सहमत जताई गई है, अब बहुत हो चुका है!'

स्वास्थ्य मंत्री का दावा- समलैंगिकता नहीं है बीमारी, नहीं है इलाज की जरुरत

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में जिस दिन सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती आतंकी हमला हुआ था, उससे एक दिन पहले (13 फरवरी) ईरान की सेना पर बिल्कुल इसी तरह का हमला हुआ था, जिसमें इराक के 27 सैनिक मारे गए थे। ईरान के दक्षिण पूर्व में पाकिस्तान से सटे सिस्तान-बलूचिस्तान प्रांत में ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड के काफिले से बारूद से भरी एक कार के टकराने के बाद विस्फोट हुआ था। ईरान की सीमा पर हुए इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी सगठन जैश-अल-अदल ने ली थी। सिस्तान-बलूचिस्तान में स्थित जैश-अल-अदल को भी पाकिस्तान का समर्थन मिलता रहा है।

खबरें और भी:-

ट्रंप ने अमेरिका में लगाईं इमरजेंसी, ये है वजह

चीन ने जताया पुलवामा घटना पर दुख, बांग्लादेश ने भी व्यक्त की संवेदना

पाकिस्तान से MFN दर्जा वापिस लेने के फैसले पर WTO को सूचित करेगा भारत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -