मेरी पाॅलिटिक्स में रूचि थी-गुलशन ग्रोवर

बाॅलीवुड स्टार एक ही इमेज की फिल्म करना पसंद नहीं करते हैं। लेकिन बाॅलीवुड में ऐसा शख्स है जो इमेज में बंधना अच्छा मानता है। जी हां, हम बात कर रहे बाॅलीवुड के बैड मैन गुलशन ग्रोवर की। गुलशन कहते है कि वह इस इमेज में बंधने को बुरा नहीं मानते, बल्कि एक विलेन के लिए इसे अच्छा मानते हैं।

ग्रोवर ने बताया, एक इमेज में बंधना हीरो के लिए पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है, क्योंकि वो हमेशा एक ही फिल्म और एक ही किरदार नहीं कर सकता है। लेकिन एक विलेन का रोल करने वाले के लिए ये किसी वरदान की तरह होता है। 

गुलशन जस्टिफाई करते है कि प्राण, प्रेम चोपड़ा, रंजीत, अमजद खान या अमरीश पुरी का एक ऐसा किरदार कभी न कभी आया है जिसने लोगों के मन में उनकी नेगेटिव छवि बना दी और इस छवि का फायदा एक विलेन को इस तरह होता है कि निर्देशक को बिना कोई प्लॉट बनाए दर्शक को फिल्म में ले जाना आसान होता है, हमारे आते ही पब्लिक समझ जाती है कि यही है, बैड मैन।

गुलशन ग्रोवर के मुताबिक, वह कभी भी फिल्मों में हीरो बनने के लिए नहीं आए थे और न ही उन्हें राजनीति का शौक था।

न मनाए मेरा जन्मदिन- कमल हासन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -