'मैं गुलाम नबी आजाद से माफी मांगता हूं', जम्मू कश्मीर पहुंचकर ऐसा क्यों बोले राहुल गांधी?

नई दिल्ली: दिग्विजय सिंह के पुलवामा हमले एवं सर्जिकल स्ट्राइक पर दिए बयान से कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किनारा कर लिया है। राहुल गांधी ने कहा, जो दिग्विजय सिंह ने कहा उससे वे सहमत नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि मुझे आर्मी पर पूरा विश्वास है। देश की आर्मी जो भी ऑपरेशन करे, उसका सबूत देने की आवश्यकता नहीं है। इतना ही नहीं राहुल ने इस के चलते गुलाम नबी आजाद से भी माफी मांगी। राहुल ने कहा, यदि मैंने कभी गुलाम नबी आजाद एवं चौधरी लाल सिंह को दुख पहुंचाया हो, तो मैं उनसे माफी मांगता हूं।

राहुल गाँधी से जब गुलाम नबी आजाद को भारत जोड़ो यात्रा का न्योता न दिए जाने को लेकर प्रश्न किया गया, तो राहुल गांधी ने कहा, गुलाम नबी आजाद की पार्टी के अधिकतर लोग तो हमारे साथ बैठे थे। 90 प्रतिशत लोग तो कांग्रेस में सम्मिलित हो गए। बस उस ओर केवल गुलाम नबी आजाद रह गए। मैं गुलाम नबी आजाद का सम्मान करता हूं। यदि मैंने उन्हें किसी प्रकार से कोई दुख पहुंचाया हो, तो मैं उनसे माफी मांगता हूं। दरअसल, गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर अपनी पार्टी बनाई थी। मगर अब उनकी पार्टी के अधिकतर नेता कांग्रेस में दोबारा सम्मिलित हो गए हैं। 

इन दिनों राहुल गांधी के नेतृत्व में भारत जोड़ो यात्रा जम्मू कश्मीर में है। राहुल गांधी ने जम्मू में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तमाम मुद्दों पर अपनी बात रखी। इस के चलते राहुल गांधी से दिग्विजय सिंह के बयान को लेकर जब सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह दिग्विजय सिंह का निजी बयान है। मैं उनके बयान से सहमत नहीं हूं। मुझे देश की आर्मी पर पूरा विश्वास है। राहुल गांधी ने कहा, कांग्रेस पार्टी ने देश को स्वतंत्रता दिलाई है। देश के सारे संस्थान बनाए हैं। कांग्रेस की विचारधारा से देश बना है। जब हम अंग्रेजों से लड़ रहे थे, तब भाजपा एवं RSS के लोग अंग्रेजों के साथ खड़े थे। 

'यह कांग्रेस का विचार नहीं', सर्जिकल स्ट्राइक पर दिग्विजय सिंह के बयान पर बोले राहुल गांधी

'मेरा चेला चरित्रहीन नहीं है, यह चमत्कार है', धीरेंद्र शास्त्री के समर्थन में उतरे गुरु श्रीराम भद्राचार्य

'नीतीश कुमार कमजोर हो रहे...', आखिर क्यों ऐसा बोले उपेंद्र कुशवाहा?

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -