'मुझे इंडस्ट्री से दुख पहुंचा है', अमित साध ने बयां किया दर्द

'मुझे इंडस्ट्री से दुख पहुंचा है', अमित साध ने बयां किया दर्द
Share:

बॉलीवुड फिल्मों के जाने माने मशहूर अभिनेता अमित साध काई पो छे, सुल्तान जैसी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं. अच्छे किरदार करने के बड़ा भी उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में पहचान बना पाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा है. अमित साध ने अब यूट्यूब पर अपना एक बाइकिंग और ट्रैवल रिलेटेड शो आरम्भ किया है. अपने एक इंटरव्यू के चलते अमित साध ने बताया कि कैसे इंडस्ट्री में काम करने का तरीका बिल्कुल बदल चुका है. उन्होंने बताया कि वो इससे कितने दुखी हैं. अमित ने कहा- जो कुछ भी हो रहा है, वो दुखद है. मुझे लगता है कि हम सब एक यूनिट हैं तथा हर किसी को एक दूसरे की रक्षा के लिए कुछ करना चाहिए. हम अब बहुत डरे हुए बन गए हैं. यदि किसी के साथ कुछ गलत हो रहा है, तो मुझे लगता है कि मुझे स्टैंड लेना चाहिए क्योंकि यदि मेरे साथ कुछ होता है, और मैं अभी किसी का समर्थन नहीं करूंगा, तो बाद में कोई भी मेरा साथ नहीं देगा. मेरा दृढ़ विश्वास है कि हम किसी को भी हमारे साथ बुरा बर्ताव करने की इजाजत नहीं दे सकते. हमें एक दूसरे के लिए खड़े होने और समर्थन दिखाने की आवश्यकता है, बिना इस बात की चिंता किए कि कौन नाराज या परेशान हो रहा है. 

अमित ने चिंता जताते हुए कहा- यदि कोई डेब्यूटांट अपना पहला शो या फिल्म कर रहा है, या फिर ये उसका पांचवां प्रोजेक्ट है तथा वो अच्छा एक्ट नहीं कर रहा है, या अच्छा काम नहीं कर रहा है, तो उसके काम की आलोचना करना एक सही तरीका है. और मैं इसे समझता हूं, मगर पूरे मीडिया का उस एक व्यक्ति और यहां तक ​​कि कुछ एक्टर्स का उसके पीछे पड़ जाना एक्सेप्टेबल नहीं है. मैं भी ऐसी फिल्मों का हिस्सा रहा हूं जहां मेरे सह-कलाकारों ने मुझे टफ टाइम दिया है, मगर मैं कभी उनके पीछे नहीं पड़ूंगा. मुझे लगता है कि वो उस वक़्त मेरे परिवार की तरह हैं तथा मैं उन्हें सेफ रखना चाहूंगा. मैं मीडिया को कोई भी जानकारी नहीं दूंगा. मैं ये बातें बोलने में आगे रहता हूं और यदि इस कारणमुझे मिल रही फिल्में छीन ली जाएं, तो कोई बात नहीं. मेरे पास अभी भी पेट्रोल खरीदने के लिए पैसे हैं और मैं बाइक चलाने जाऊंगा. मुझे लगता है कि एक तरह का सम्मानजनक ईकोसिस्टम होना चाहिए जहां गरिमा हो और किसी तरह की एक्सेप्टेंस हो.

अमित ने इंडस्ट्री में 20 वर्ष गुजारे हैं. अपने शुरुआती दौर को याद करते हुए उन्होंने कहा- एक वक़्त था जब मैं बहुत गुस्सा हो जाता था. अब, जब मैं पीछे देखता हूं, तो मुझे लगता है कि शायद मैं बेवकूफ था क्योंकि यहां कोई भी आपको थाली में सजाकर कुछ देने के लिए नहीं है. कभी-कभी कड़ी लड़ाई लड़ना तथा इंडस्ट्री को ये दिखाना जरूरी होता है कि आप यहां टिकने के लिए हैं. जब आलोचना की बात आती है, तो मैं इस मामले में बहुत सख्त रहा हूं. मुझे इंडस्ट्री से दुख हुआ. मैं स्वयं को विक्टिमाइज नहीं कर रहा हूं, मगर मैं आहत महसूस करता हूं. आगे अमित बोले- मैं अपनी एक्टिंग की आलोचना न किए जाने के लिए आभारी हूं. मुझे हमेशा शानदार अवसर मिले हैं. आखिरकार, हम सभी इंसान हैं और हम सभी अपने-अपने संघर्षों से गुजर रहे हैं, इसलिए मैंने सकारात्मक चीजों और अपने पास मौजूद सभी चीजों को देखना शुरू किया तथा अपने आप ही मैंने सोचना शुरू कर दिया कि मैं क्यों दुखी हूं, जबकि मैं अपने पास मौजूद सभी चीजों के लिए थैंकफुल हूं, और मुझे समझ में आया कि जिंदगी चलती रहती है. मुझे लगता है कि अपने करियर के आरम्भ में ही मुझे एहसास हो गया था कि हर गुजरते दिन के साथ आगे बढ़ना चाहिए. मैंने छोटे-छोटे रोल भी बहुत जुनून के साथ किए हैं और हमेशा मेरा मानना ​​रहा है कि अगर कोई मुझे छोटा-मोटा रोल भी ऑफर करे, तो मैं हमेशा आगे बढ़ूंगा. 10-15 मिनट में, मैंने स्वीकार कर लिया कि सिर ऊंचा करके तथा बिना घमंडी लगे, सिर्फ आत्मविश्वास के साथ, मैंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है.

सोनाक्षी सिन्हा से नाराज हैं शत्रुघ्न सिन्हा, शादी में नहीं होंगे शामिल! एक्ट्रेस के अंकल ने किया बड़ा खुलासा

'प्रीति जिंटा जैसी दिखती हूं इसलिए इंडस्ट्री में हुई एंट्री', बोली तापसी पन्नू

मशहूर सिंगर हुईं वायरल अटैक का श‍िकार, सुनाई देना हुआ बंद, सदमे में फैंस

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -