+

बचपन से मेरी आदत छक्के लगाने की थी, पांड्या

Feb 25 2016 08:34 PM
बचपन से मेरी आदत छक्के लगाने की थी, पांड्या

मीरपुर: भारतीय क्रिेकट टीम के युवा बल्लेबाज हार्दिक पांड्या ने अपने एक बयान में कहा है कि मैच में आक्रामक बल्लेबाजी मेरी स्वाभाविक शैली है. इस दौरान चर्चा में पांड्या ने कहा कि में सिर्फ पिंच हिटर नहीं बल्कि मुकम्मिल बल्लेबाज भी हु। गौरतलब है कि टीम इंडिया के इस हरफनमौला बल्लेबाज ने बांग्लादेश के खिलाफ एशिया कप के पहले मैच में 18 गेंद में 31 रन बनाये थे. तथा इस दौरान उन्होंने अपनी बॉलिंग से भी लोगो को प्रभावित किया था.

मैच को जितने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी भारतीय क्रिेकट टीम के इस युवा बल्लेबाज हार्दिक पांड्या कि खुले दिल से प्रशंसा की थी. इस दौरान पांड्या ने आगे कहा कि ‘यह मेरी शैली है और मैं ऐसे ही खेलता आया हूं। मुझे कभी पिंच हिटर के रूप में नहीं भेजा गया। पांड्या ने दोहराया कि मेरा ऐसा मानना है कि मैं मुकम्मिल बल्लेबाज हूं.

यही वजह है कि मुझे किसी ने किसी खास शैली में बल्लेबाजी के लिये नहीं बोला । यह अच्छी बात है कि मैं उस रफ्तार से बल्लेबाजी कर पा रहा हूं जिसकी भारतीय टीम को बहुत ही ज्यादा आवश्यकता है।’ पांड्या ने कहा कि बचपन में मेरी आदत हमेशा से चक्का लगाने कि रही थी ‘जब मैं 16 या 17 साल का था तब भी छक्के लगाना मेरा शौक था.