हाथ से नहीं बल्कि नाक से करता है ये शख्स टाइपिंग

हाथ से नहीं बल्कि नाक से करता है ये शख्स टाइपिंग

कई लोगों में इतने गुण होते हैं कि देखते ही बनते हैं. यानि कई बार हमे ऐसे लोग देखने को मिलते हैं जो होते तो अपंग हैं लेकिन उनमें एक गजब का ही टैलेंट होता है जो आपके पास भी नहीं हो  सकता है. ये कहना गलत नहीं होगा कि अगर वो दूसरों की तरह सामन्य नहीं होते तो उनमे एक अलग ही टैलेंट होता है. ऐसे ही एक शख्स का कारनामा बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आपको हैरानी होगी. दरअसल, एक शख्स है जो हाथ से नहीं बल्कि अपनी नाक से टाइपिंग करता है. जी हाँ, आइये बता देते हैं उसके बारे में.

दरअसल, हैदराबाद में रहने वाला एक शख्स ऐसा भी है जो हाथ से नही बल्कि अपनी नाक से टाइपिंग करता है. इतना ही नहीं नाक से टाइपिंग करने की उसकी स्पीड भी इतनी तेज है कि बहुत से लोग हाथ से भी इतनी स्पीड से नही कर सकते. इंजीनियरिेंग के छात्र मोहम्मद खर्शीद हुसैन ने 10 साल की उम्र से ही टाइपिंग सीखना शुरु किया. मोहम्मद प्रतिदिन 8 घंटे टाइपिंग का अभ्यास करते थे. इसी के चलते उन्होंने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस में अपना नाम दर्ज करवाने के लिए उन्होंने कम उम्र में ही काफी मेहनत की. उनके नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दो रिकॉर्ड दर्ज हैं.

आपको बता दें, मोहम्मद ने मात्र 3.43 सेकेंड्स में सारे अल्फाबेट टाइप किए. यहीं नहीं, उन्होंने 47 सेकेंड में 103 अक्षर टाइप करके एक नया रिकार्ड बनाया. उनका कहना है कि जब वो अपनी नाक की मदद से टाइप करते हैं तो की-बोर्ड देखना काफी मुश्किल होता है.

25000 चूहों का जूठा प्रसाद दिया जाता है इस मंदिर में, ये है कारण

अब इस ऐतिहासिक किरदार निभाने जा रहे हैं अक्षय कुमार, मिली एक और फिल्म

गुलाबचंद कटारिया का बड़ा बयान, कहा मुसलमानों को भी मानना चाहिए 2 बच्चों का नियम