बालोर खाए और सेहत बनाए

बलोर को सेम भी बोला जाता है. बलोर की सब्जी खाई जाती है. यह एक लता है और इसमें फलियां लगती हैं. आयुर्वेद में बलोर को कई बीमारियों को ठीक करने की अचूक औषधि बताया गया है. आयुर्वेद में बलोर मधुर, शीतल, भारी, बलकारी, वातकारक, दाहजनक, दीपन तथा पित्त और कफ का नाश करने वाली कही गई हैं.

इसमें लौह तत्व , केल्शियम ,मेग्नेशियम , फोस्फोरस विटामिन ए आदि होते है जो लोग दुबलेपन से परेशान हैं वे बलोर का सेवन करें. इसके बीज भी शाक के रूप में खाए जाते हैं. इसकी दाल भी होती है. बीज में प्रोटीन की मात्रा पर्याप्त रहती है. उसी कारण इसमें पौष्टिकता आ जाती है.

बलोर और इसकी पत्तियों का साग कब्ज़ दूर करता है. छोटे बच्चें में बुखार होने पर उनके पैर के तलुओं में बलोर की पत्तियों का रस लगाने से बुखार ठीक हो जाता है. चेहरे के काले धब्बों पर बलोर की पत्ती का रस लगाने से लाभ होता है. बलोर एक रक्तशोधक भी है, फुर्ती लाती है, शरीर मोटा करती है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -