MP : हरी सब्जी के नाम पर 200 करोड़ की ठगी करने वाले पति- पत्नी का पर्दाफाश

Jan 25 2016 02:11 PM
MP : हरी सब्जी के नाम पर 200 करोड़ की ठगी करने वाले पति- पत्नी का पर्दाफाश

इन्दौर : दिनांक 24 जनवरी 2016- पुलिस उप महानिरीक्षक इन्दौर श्री संतोष कुमार सिंह के निर्देशन में कार्यवाही करते हुए , इन्दौर क्राईम ब्रांच ने इन्दौर में हरी सब्जियों के व्यवसाय में लोगो को पार्टनरशिप व जॉब प्रोवाईड करने के नाम पर ठगी करने वाले एक दिल्ली के ठग को पकड़ने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (क्राईम) इन्दौर द्वारा बताया गया कि , इन्दौर पुलिस के व्हॉट्‌सएप एनीशियेटिव पर एक सूचना प्राप्त हुई थी कि, विजय नगर स्थित सयाजी प्लाजा में उपर की दुकानों पर दिल्ली का एक व्यक्ति फ्री सेवियर सरर्वेन्ट सर्विसेस के नाम पर हरी सब्जियों/टिफिन सेन्टर इत्यादि के नाम पर लोगो को बहुत ही कम राशि पर पार्टनर बना रहा है एवं रूपयें 3500 रू. प्रतिवर्ष लेकर , 600 रू. प्रतिमाह , इस प्रकार कुल 7200 रूपयें की सब्जी साल भर मे देने का प्रलोभन दे रहा है , साथ ही नवयुवक/नवयुवतियों को उच्च वेतन पर नौकरी देने का काम कररहा है।

उक्त सूचना पर क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा तस्दीक की गई तो , ज्ञात हुआ कि सयाजी प्लाजा , एक्सिस बैंक के उपर , दुकान नं. 6 से 10 में एक फर्निश्ड ऑफिस में फ्री सर्विस सर्वेन्ट सेवियर नाम का ऑफिस खोला गया है जहां हरी सब्जियों का व्यवसाय होता है जिसके ऑनर प्रवीण शर्मा है। प्रवीण शर्मा से विस्तृत पूछताछ करने पर पाया गया कि , उसके द्वारा इस व्यवसाय का कोई लायसेंस स्थानीय प्रशासनिक संस्थान से प्राप्त नहीं लिया गया है। प्रवीण शर्मा के दस्तावेजो का सूक्ष्मता से परीक्षण करने पर पाया गया कि उसके द्वारा स्वयं की सही पहचान छुपा कर , छद्‌म नाम से अपना यह परिचय दिया गया है , प्रवीण शर्मा द्वारा प्रस्तुत दिल्ली राज्य परिवहन विभाग का ड्रायविंग लायसेंस चेक करने पर फर्जी होना पाया गया जो नई दिल्ली के किसी इन्द्रजीत लाम्बा पिता मलिक चन्द लाम्बा निवासी बलजीत नगर थाना वेस्ट पटेल नगर नई दिल्ली के नाम पर था , जिसे प्रवीण शर्मा ने स्वयं ही अपने लैपटॉप से स्वयं के नाम का बना लिया गया था। इ

स आधार पर प्रवीण शर्मा से बारीकी से पूछताछ करने पर उसके द्वारा स्वंय का सही नाम विनोद पाटिल उर्फ प्रवीण शर्मा उर्फ तुषार पंवार पिता स्व. हिलाल पाटिल उर्फ राजेन्द्र शर्मा( 37) निवासी ग्राम जारगांव , थाना पचोरा जिला जलगांव महाराष्ट्र्र का मूल निवासी होना बताया गया। प्रवीण शर्मा से गहनता से पूछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि इसी ऑफिस में प्रोजेक्ट मैनेजर का काम करने वाली अनुष्का कौशिक उर्फ रीमन शर्मा निवासी जिन्द हरियाणा , उसकी पत्नी है , जिससे उसने नई दिल्ली मे लव मैरिज किया था। प्रवीण शर्मा के बाबत और जानकारियां प्राप्त करने पर उसके द्वारा बताया गया कि उसने हरी सब्जियों के नाम पर इन्दौर में रूपयें 50,000/- की राशि पर कुछ लोगो को पार्टनरशिप दी गई थी साथ ही लगभग 80 लोगो को सब्जी बेचने का एक्जीक्यूटिव नियुक्त किया गया था जिनसे भी रूपयें 3500 प्रतिवर्ष की राशि प्राप्त की गई थी एवं उनसे अपनी फर्म का प्रचार प्रसार एवं काम करा रहा था।

प्रवीण शर्मा के लुभावनें ऑफर्स को देखते हुए भारी संखया में लोगो ने 3500/- रूपयें जमा कर 600/- रू. प्रतिमाह की सब्जिया साल भर प्राप्त करने हेतु रजिस्ट्र्रेशन कराया था। आरोपी के दस्तावेजो का परी़क्षण करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार किये जाने से थाना अपराध शाखा इन्दौर पर अपराध धारा 419,420,467,468,471, 120- बी , 34 भादवि पंजीबद्व किया जाकरविवेचना में लिया गया। पुलिस द्वारा की गई जांच में आरोपी विनोद पाटिल उर्फ प्रवीण शर्मा ने गुजरात के जामनगर , कर्नाटक के बैंगलोर , राजस्थान के अलवर , नई दिल्ली तथा पचोरा जिला जलगांव महाराष्ट्र्र में लगभग 2000 करोड के घोटाले की राशि सामने आ रही है। आरोपी विनोद पाटिल ने , अपनी इसी फर्म में लोगो से फ्रेन्चायजी देने के नाम पर 10-10 लाख रूपयें की राशि प्राप्त की है , साथ ही रिटेल स्टोर की फ्रेन्चायजी देने के नाम पर रूपयें 4 लाख की राशि पर लोगो को जोडने वाला था। क्राईम ब्रांच इन्दौर द्वारा आरोपी के सयाजी प्लाजा , एक्सिस बैंक के उपर , दुकान नं. 6 से 10 मे दबिश दिये जाने पर , भारी मात्रा में सब्जिया , 3 लैपटॉप , 4 कम्प्यूटर , प्रिन्टर , मोबाईल फोन्स , दस्तावेज आदि बरामद किये गये है। आरोपी प्रवीण शर्मा द्वारा बायपास इन्दौर की प्लेटिनम पैराडाईज कॉलोनी में भी दो मकान किराये पर लिये जाकर टिफिन सेन्टर एवं सब्जियां विक्रय का काम किया जा रहा था। टीम द्वारा रात्रि को दबिश दिये जाने पर उक्त स्थान से एक कम्पूयटर , कुछ दस्तावेज एवं भारी मात्रा में सब्जियां/बर्तन इत्यादि बरामद किये गये है।