बीवी के केरेक्टर पर नहीं था भरोसा, फिर दो दोस्तों के बिच हुआ सौदा

मध्यप्रदेश / मुरैना : कहा जाता है कि पति और पत्नी का साथ जन्मों का होता है, लेकिन एक दंपति का रिश्ता 7 साल भी नहीं टिक सका. इस रिश्ते का अंत इतना खौफनाक हुआ कि पत्नी को अपनी आबरू गंवानी पड़ी तो पति अपनी करतूत के चलते सलाखों के पीछे है. रिश्तों में बेवफाई के शक के चलते एक परिवार कि खुशिया तबाह हो गई. यह राज हमेशा राज ही रहता यदि महिला का एक फोन कॉल अपने भाई के पास नहीं पहुंचता.

दरअसल, मुरैना के भिडौसा गांव के निवासी रामनिवास अपनी पत्नी पर शक करता था और इसी बात को लेकर दोनों के बीच तकरार होती रहती थी. इसी बीच 28 अप्रैल को पीड़ित महिला की बेटी को चोट लग गई थी और उसे इलाज के लिए ग्वालियर के कमलाराजा हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. पीड़िता ने आरोप लगते हुए कहा कि हॉस्पिटल से निकलने के बाद उसे कोल्ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलकर पिलाया गया जिसके बाद वह बेहोश हो गई. जब उसे होश आया तो देखा कि वह पति के दोस्त अवधेश जाटव के घर चितबेना जिला दतिया में थी. महिला ने अवधेश से यहां लाने का कारण पूछा तो उसने बताया कि उसे उसके पति ने 72 हजार रूपए में बेच दिया है. साथ ही आरोपी पति ने इल्जाम उसके ऊपर न आये इसलिए ग्वालियर थाने में गुमशुदगी भी दर्ज करा दी थी.

पुलिस ने जब मामले कि जांच कि तो रिश्तों को शर्मसार करने का खौफनाक मामला सामने आया. पति को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक हुआ तो उसने एक ऐसा कदम उठा लिया, जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता. शक और पैसों की चाह ने पति को हैवान बना दिया. लालच और बदले की 'आग' में जल रहे पति ने पत्नी और 5 साल की बेटी को अपने ही दोस्त को बेच दिया. 72 हजार रुपए में हुए इस सौदे के बाद खरीददार महिला को बंधक बनाकर उसके साथ रेप करता रहा.

पीड़िता को किसी तरह मौका मिला और फिर उसने अपने भाई को आपबीती सुनाई. इसके बाद पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर महिला को आज़ाद कराया. पीड़िता के भाई से मिली जानकारी के बाद ग्वालियर की पुरानी छावनी थाना पुलिस ने अपनी ही पत्नी को बेचने वाले पति और उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी, अपहरण और दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है.

Most Popular

- Sponsored Advert -