राज्य के ग्वालियर-चंबल संभाग में तूफान का असर

मध्य प्रदेश के मुरैना में रविवार को आंधी के कारण दीवार, मकान और पेड़ गिरने के चलते एक बच्चे और एक महिला की मौत हो गई. गौरतलब है कि हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में भी सोमवार शाम को अंधी चली. राजस्थान में तो रेत का बवंडर भी देखा गया. ये बवंडर राजस्थान के बीकानेर में खाजूवाला से सटे बार्डर क्षेत्र से उठा. इसके बाद बवंडर से लगभग पूरे कस्बे में धूल भरी हवाएं चली. मध्य प्रदेश में आंधी- तूफान का असर ग्वालियर-चंबल संभाग में दिखाई दे रहा है.

आंधी  तूफान की चेतावनी के चलते हरियाणा में नगर पालिका कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं वहीं दिल्ली और आसपास के कई क्षेत्रों में दोपहर के स्कूलों में छुट्‌टी घोषित की गई है. तूफान की चेतावनी में कहा गया है कि आंधी के दौरान हवाएं 50 से 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं. इस बात की गंभीरता को देखते हुए आपदा एजेंसियों को तैयार रहने को कहा गया है.

मौसम विज्ञानिको ने नार्थ ईस्ट के राज्य  मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा के कुछ क्षेत्रों  में भी तेज हवा के साथ बारिश होने का अनुमान जताया है. हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में ऊंचाई वाले इलाकों में सोमवार को बेमौसम बर्फबारी हुई. बर्फबारी के बाद बारिश भी हुई. 

गर्मी बढ़ने के साथ जल संकट गहराने लगा

भोपाल में गर्मी बढ़ी

सूखा खेत, गिरवी बेटा, क्या करता अन्नदाता ? 'आत्महत्या'

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -