अनुष्का पांडेय केस: खत्म हुई भूख हड़ताल, CM योगी ने दिए CBI जांच के आदेश

बीते सोमवार से नगर पालिका के शहीद पार्क में सीबीआई जांच को लेकर चल रही भूख हड़ताल आधी रात को खत्म हो चुकी है. जी दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिजनों की बात स्वीकार कर ली और जिला प्रशासन की संस्तुति पर घटना की सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. इस मामले में जांच का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है और मुख्यमंत्री के निर्देश पर डीएम, एसपी, भाजपा नेताओं के साथ शहीद पार्क पहुंचे और परिजनों को जूस पिलाकर हड़ताल खत्म करवा दी गई है. बीते सोमवार से नगर के गोपीनाथ अड्डा निवासी सुभाष चंद्र पांडेय उनकी पत्नी साधना पांडेय के साथ विभिन्न राजनैतिक दलों, संस्थाओं के लोग भूख हड़ताल कर रहे थे और 16 सितंबर को सुभाष पांडेय की पुत्री अनुष्का का शव भोगांव के नवोदय विद्यालय के एक कमरे में फांसी पर लटका मिला था. वहीं इस मामले में परिजनों का आरोप है कि नवोदय में कक्षा 11 की छात्रा अनुष्का ने फांसी नहीं लगाई बल्कि उसकी हत्या की गई.

इन पर है हत्या का आरोप - इस मामले में हत्या का आरोप लगाकर नवोदय की प्रधानाचार्य सुषमा सागर, स्कूल की वार्डन तथा अनुष्का के साथ कक्षा 11 में पढ़ने वाले छात्र अजय राजपूत के खिलाफ हत्या का मुकदमा भोगांव थाने में दर्ज करवाया गया था और हत्यारों की गिरफ्तारी न होने से नाराज परिजनों ने सोमवार से नगरपालिका के शहीद पार्क में भूख हड़ताल शुरू कर दी थी. बीते मंगलवार को नाटकीय घटना क्रम के बाद हड़ताल खत्म कर दी गई. इस मामले में आबकारी मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री ने सोमवार को सीएम योगी आदिनाथ को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी थी और सीएम ने मंत्री की मांग पर इस घटना की जांच एसटीएफ से कराने के आदेश जारी कर दिए, लेकिन अनुष्का के परिजन एसटीएफ जांच से संतुष्ट नहीं हुए और उन्होंने सीबीआई जांच की मांग जारी रखी. वहीं मामले की जानकारी फिर सीएम कार्यालय पहुंची तो सीएम कार्यालय ने डीएम पीके उपाध्याय, एसपी अजय शंकर राय से पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांग ली.

उसके बाद रात 10:30 बजे डीएम, एसपी, भाजपा जिलाध्यक्ष आलोक गुप्ता, जिला उपाध्यक्ष प्रदीप चौहान, अनुराग पांडेय शहीद पार्क गए और अधिकारियों और भाजपा नेताओं ने पहले तो एसटीएफ जांच के लिए ही परिजनों को मनाने की कोशिश की लेकिन परिजन किसी भी सूरत में सीबीआई जांच से कम पर तैयार नहीं थे. उसी रात में ही अधिकारियों ने सीएम कार्यालय को परिजनों की डिमांड की जानकारी दी और 3 घंटे चली जद्दोजहद के बाद रात 1:00 बजे सीएम कार्यालय से घटना की सीबीआई जांच की संस्तुति किए जाने के निर्देश मैनपुरी प्रशासन को भेजे गए और इस आशय का एक पत्र भी भेजा जा चुका है.

अनुष्का पांडेय हत्याकांड में बड़ा खुलासा, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई यह बात

रोज बहु के कमरे में चला जाता था ससुर, विरोध किया तो कहा- 'तुझे अपने लिए लाया हूँ...'

छात्रा का गैंगरेप करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार, नशीला लड्डू खिलाकर दिया था घटना को अंजाम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -