2005 में हुड्डा सरकार ने 1982 के रेट पर बेची जमीन

चंडीगढ़ ​: नेशनल हेराल्ड के में अब कांग्रेस के और और वरिष्ठ नेता सवालों में घिरे हुए नज़र आ रहे हैं। दरअसल हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंदर सिंह हुड्डा पर भी प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में प्रमुख समाचार पत्र नेशनल हेराल्ड के अधिग्रहण में भ्रष्टाचार होने और संबंधित नियमों को ताक पर रखकर जमीनों का आवंटन करने के मामले में भी हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा सवालों के घेरे में हैं। हरियाणा के विजिलेंस ब्यूरो द्वारा हुड्डा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई।

हुड्डा ने शहरी विकास प्राधिकरण के प्रमुख रहते हुए भी कई तरह की अनियमितताऐं बरतीं। उन पर आरोप लगाए गए हें कि हुड्डा ने 28 अगस्त 2005 को पद का दुरूपयोग करने एजेएल को पंचकूला में जमीन का आवंटन बहाल करने के निर्देश दे दिए थे। उन पर इस तरह की अनियमितताओं के आदेश भी हैं। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंदर सिंह हुड्डा से पहले नेशनल हेराल्ड से जुड़े मसले पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, आॅस्कर फर्नांडीज़ और मोतीलाल वोरा जैसे नेताओं पर प्रकरण दर्ज हैं। 

एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड को प्रथम बार 1982 में हरियाणा के पंचकूला में जमीन प्राप्त हुई थी मगर 1992 में सरकार ने जमीन वापस ले ली। वर्ष 2005 में हरियाणा में कांग्रेस सरकार बनने पर जमीन की फाईल निकाली गई। इसके बाद भी एजेएल को कम कीमत पर आर्थात् 1982 के जमीन मूल्य पर ही भूमि दे दी गई। इस मामले में स्थानीय कलेक्ट्रेट की गाईड लाईन्स को तक दरकिनार कर दिया गया। अब इस मामले में आरोप लग रहे हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -