अमेरिका ने चीन को टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दिया तगड़ा झटका

 

दुनिया के ताकतवर देश अमेरिका ने Tiktok बैन के पश्चात चीन को एक और झटका दिया है. अमेरिका ने चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Huawei के अस्थायी सामान्य लाइसेंस को खारिज कर दिया है. अमेरिकी वाणिज्य महकमें ने एक ई-मेल से लाइसेंस के रद होने की जानकारी दी. मेल में कहा गया है कि यह लाइसेंस Huawei डिवाइस यूजर और टेलीकम्यूनिकेशन प्रोवाइड के लिए अस्थायी अवसर था कि वो वक्त रहते नई डिवाइस और नए प्रोवाइडर का चयन कर सके. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

3,499 की कीमत पर Soundcore का ब्लूटूथ हेडसेट कर सकेंगे क्रय, सिंगल चार्ज में देगा 100 घंटे का बैकअप

इस लाइसेंस से Huawei अमेरिका में गूगल की सहायता से स्मार्टफोन के मेंटिनेंस का कार्य करती थी. हालांकि लाइसेंस के रद्द होने के पश्चात Huawei स्मार्टफोन का मेंटिनेंस समाप्त् हो जाएगा. साथ ही Huawei के पुराने स्मार्टफोन में अपडेट मिलना मुश्किल हो जाएगा. मामले में Huawei प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी पूरी स्थिति का आकलन कर रही है. 

इस कंपनी के इलेक्ट्रिक वाहनों पर मिल रहा 6000 रु डिस्काउंट

विदेशी मीडिया के अनुसार लाइसेंस रद होने से ग्रामीण टेलीकॉम कंपनियों और अमेरिका में हुवावे फोन ग्राहकों को दिक्कत उठाना पड़ सकता है. साथ ही कुछ वायरलेस नेटवर्क में परेशानी आ सकती है. इसके अलावा लाइसेंस रद्द होने से सॉफ्टवेयर अपडेट नही होगा.अमेरिका ने पिछले साल एक अस्थायी लाइसेंस जारी किया था,  जो google को मौजूदा Huawei एंड्राइड डिवाइस OS को सपोर्ट और अपडेट देता था. ट्रेड बैन होने से फ्यूचर प्रोडक्ट के डेवलपमेंट पर असर देखा जाएगा.Huawei अपने ऑपरेटिंग सिस्टम HarnonyOS पर काम कर रही है. किन्तु यह अभी हकीकत से दूर है.  Huawei ने स्वीकार किया है कि अमेरिकी बैन से उसकी कंपनी पर बुरा असर पड़ रहा है. खासतौर पर गूगल के कोर एंड्राइड सॉफ्टवेयर, प्ले स्टोर और पॉप्युलर एप्लीकेशन जैसै search, Map की गैरमौजूदगी में कंपनी को क्षति उठानी पड़ सकती है.

भारत में जल्द दस्तक देगा iQOO का यह शानदार स्मार्टफोन, कंपनी ने जारी किया टीजर

HTC ने लॉन्च किया HTC Desire 20 Pro स्मार्टफोन, जानें कीमत और फीचर

AKTU Exam 2020: चेंज हुआ फाइनल ईयर की परीक्षाओं का शेड्यूल, यहाँ देखें नया टाइम टेबल

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -