नरम हाथों की बात ही कुछ और है

नरम हाथों की बात ही कुछ और है

ज्यादातर हाउस वाइफ्स के हाथ दैनिक दिनचर्या के दौरान बार-बार साबुन व डिटरजेंट के संपर्क में आते हैं, जिस वजह से हाथों की त्वचा को अत्यधिक नुकसान पहुंचता है और वे रुखे हो जाते हैं. हाथों को देखभाल की उतनी जरूरत होती है, जितनी आपके चेहरे को लेकिन हम इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते और बदले में मिलते हमें रूखे और खुरदरे हाथ। अपने हाथों पर भी ध्यान देना बेहद जरूरी है। अगर आप भी हाथों के रूखेपन और खुरदरेपन से परेशान है तो जल्दी से ये टिप्स अपनाइये।

नहाने से पहले हाथ व पैरों पर तेल की मालिश करें, जिससे त्वचा की कोमलता बढ़ती है. इसके लिए आप तिल या जैतून का तेल प्रयोग में ला सकती हैं. बेसन, दही तथा हल्दी को मिलाकर पेस्ट बनाकर लगाएं और इस पेस्ट को 20 मिनट तक लगाकर छोड़ दें. बाद में इसे हल्का सा रगड़ें और फिर सादे पानी से धो लें. इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो-तीन बार दोहराएं. हाथ-पैर की त्वचा की अत्यधिक खुश्की से निपटने के लिए एक चम्मच ग्लिसरीन को 100 मिली लीटर गुलाब जल में मिलाएं. इस मिश्रण को हाथ और पैर पर लगाने से त्वचा में नमी और कोमलता आ जाती है ज्यादा रूखे हाथों व नाखूनों के लिए एक चम्मच बादाम का तेल, एक चम्मच तिल का तेल और एक चम्मच गेहूं के बीजों का तेल मिलाकर मिश्रण बना लें. इसे अपनी त्वचा व नाखूनों पर रोज लगाएं. नारियल के तेल में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं. त्वचा के इंफेक्शन की जगह पर अगर नारियल तेल का इस्तेमाल किया जाए तो यह जल्दी ठीक हो जाता है.

इसे हाथों पर लगाकर मालिश करने से हाथ सुंदर बनते हैं और त्वचा का रूखापन समाप्त होता है. तेज गर्म पानी से हाथ को नहीं धोने चाहिए. दरअसल तेज गर्म और ज्यादा ठंडे पानी से हाथों की नमी पर असर पड़ता है. साथ ही तेज गर्म पानी से हाथों की त्वचा के जलने का भी खतरा बना रहता है. इसलिए हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि गुनगुने पानी का ही प्रयोग करें. हाथों की सुरक्षा के लिए इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बाहर निकलने से पहले हाथों पर सनस्क्रीन लोशन का इस्तेमाल जरूर करें, ताकि सूर्य की अल्ट्रावॉयलेट किरणों का हाथों पर दुष्प्रभाव न पड़े.